अनंतपद्मनाभ स्वामी मंदिर की चमत्कारी झील, पहले मगरमच्छ की मौत के एक साल बाद प्रकट हुआ दूसरा

कासरगोड. केरल के कासरगोड स्थित श्री अनंतपद्मनाभ स्वामी मंदिर की झील में रहने वाले और इसके परिसर में घूमने वाले एकमात्र मगरमच्छ की मौत के एक साल से अधिक समय बाद, हाल ही में इस झील में एक नया मगरमच्छ देखा गया है।

मंदिर के एक अधिकारी के मुताबिक, यह एक महत्वपूर्ण घटना है क्योंकि झील में हमेशा एक ही मगरमच्छ होता है और हाल ही में देखा गया मगरमच्छ चौथा है। मंदिर की वेबसाइट के अनुसार, ‘जब एक मगरमच्छ मर जाता है, तो दूसरा अनिवार्य रूप से झील में दिखाई देता है, यह अभी तक ज्ञात नहीं है कि ऐसा क्यों होता है।’

मंदिर अधिकारी के मुताबिक, 8 नवंबर को झील से सटी एक गुफा में कुछ श्रद्धालुओं ने नए मगरमच्छ को देखा, जिसके बारे में उन्होंने मंदिर प्रशासन को सूचित किया। मंदिर प्रशासन ने भी शनिवार को मगरमच्छ की मौजूदगी की पुष्टि की। मंदिर अधिकारी ने कहा, ‘यह मगरमच्छ कम उम्र का है। हमने इसकी सूचना मंदिर के तंत्री (मुख्य पुजारी) को दे दी है और वह अगले कदम पर फैसला करेंगे।’

पिछली मादा मगरमच्छ का नाम बबिया था और वह 9 अक्टूबर, 2020 को मृत पाई गई थी। बबिया तीसरा मगरमच्छ था और माना जाता है कि उसकी उम्र 70 साल थी। दफनाने से पहले राजनेताओं समेत सैकड़ों लोगों ने बाबिया के दर्शन किए।

टैग: मगरमच्छ, केरल