अमेरिकी ओक्लाहोमा में हत्या के आरोप में 48 साल जेल में रहने के बाद कैदी ग्लिन सिमंस को बरी कर दिया गया

अमेरिकी समाचार: अमेरिकी राज्य ओक्लाहोमा के एक शख्स ग्लेन सिमंस को 48 साल जेल में बिताने पड़े। हैरानी की बात तो ये है कि इतने सालों बाद कोर्ट ने शख्स को आरोपों से बरी कर दिया है. नेशनल रजिस्ट्री ऑफ एक्सोनरेशन्स के मुताबिक, ग्लेन सिमंस बिना कोई अपराध किए सबसे लंबी जेल की सजा काटने वाले व्यक्ति बन गए हैं।

70 साल के ग्लेन सिमंस पर हत्या का आरोप लगा. उन्हें हत्या और डकैती के आरोप में 1975 में मौत की सजा सुनाई गई थी। हालांकि, बाद में अमेरिकी कोर्ट ने उनकी सजा को उम्रकैद में बदल दिया. उस समय ग्लेन सिमंस 22 साल के थे। ग्लेन पर 1975 में एक शराब की दुकान को लूटने और फिर कैरोलिन सू रोजर्स नाम के व्यक्ति की हत्या का आरोप था। कोर्ट ने एक कथित चश्मदीद के बयान के आधार पर सजा सुनाई थी.

ग्लेन लिवर कैंसर से जूझ रहे हैं

ऑनलाइन फंड जुटाने वाली संस्था गो फंड मी के मुताबिक, ग्लेन को लिवर कैंसर है। संस्था ने उनके इलाज के लिए हजारों डॉलर जुटाए हैं। ओक्लाहोमा में बिना कोई अपराध किए सज़ा पाए लोगों को मुआवज़ा देने का प्रावधान है. इसके बदले में व्यक्ति को 1 लाख 75 हजार डॉलर की रकम दी जाती है।

फैसले में कोर्ट ने क्या कहा?

ग्लेन को अपराध से बरी करते हुए ओक्लाहोमा कोर्ट ने कहा, कई सबूतों के माध्यम से, यह स्पष्ट हो गया है कि ग्लेन को दोषी ठहराया गया था और उसे उन अपराधों के लिए सजा का सामना करना पड़ा जो उसने नहीं किया था। आरोपों से बरी हुए ग्लेन सिमंस ने फैसले के बारे में समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस से कहा, यह न्याय के लिए हमारे निरंतर प्रयासों और दृढ़ संकल्प का परिणाम है।

ये भी पढ़ें:

अमेरिका ने चीन पर नकेल कसने की योजना बनाई, वह हवाई क्षेत्र फिर से सक्रिय हो गया जहां से जापान पर परमाणु बम गिराया गया था