अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग सैन फ्रांसिस्को में मुलाकात करेंगे

बिडेन-जिनपिंग बैठक: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग 15 नवंबर को सैन फ्रांसिस्को में मुलाकात कर सकते हैं। अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक, इस मुलाकात के दौरान इजराइल-हमास युद्ध, यूक्रेन-रूस युद्ध और ताइवान को अमेरिकी मदद को लेकर मुद्दे रहेंगे। ताइवान में अगले साल चुनाव होने हैं और इस बैठक के जरिए चीन यह सुनिश्चित करना चाहेगा कि अमेरिका किसी भी तरह के हस्तक्षेप से बचे और ताइवान के पक्ष में बातचीत करे. इसके अलावा वह मध्य पूर्व में उपजे हालिया तनाव और संघर्ष को लेकर भी चीन से बात कर सकते हैं.

हमास-इज़राइल युद्ध के शुरुआती दिनों में अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने चीन से ईरान पर अपने प्रभाव का इस्तेमाल करने का अनुरोध किया था ताकि युद्ध में शांति स्थापित की जा सके। अब उम्मीद है कि सैन फ्रांसिस्को बैठक के दौरान जो बाइडेन इस मुद्दे पर शी जिनपिंग से बात कर सकते हैं.

चीन और अमेरिका के बीच बिगड़े रिश्तों को सुधारने की पहल

कई अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि शी जिनपिंग सैन फ्रांसिस्को में बाइडेन के अलावा कई अमेरिकी कारोबारियों से भी मुलाकात करेंगे. अमेरिका में चीनी राजदूत शाई फेंग ने दोनों देशों के बीच रिश्तों में गर्माहट लाने की बात कही थी.

चीन और अमेरिका के बीच रिश्ते तब सबसे बुरे दौर में पहुंच गए थे जब अमेरिका ने चीन पर जासूसी गुब्बारों के जरिए अमेरिका पर नजर रखने का आरोप लगाया था. इससे पहले पिछले साल तत्कालीन अमेरिकी स्पीकर नैन्सी पेलोसी ने ताइवान का दौरा किया था, जिसके बाद चीनी सेना ने अमेरिकी सेना के साथ अपनी बातचीत बंद कर दी थी।

इसी हफ्ते दोनों देशों के राष्ट्रपतियों की मुलाकात से पहले अमेरिकी वित्त मंत्री जेनेट येलेन ने अपने चीनी समकक्ष हे लिफेंग से मुलाकात की थी. इस मुलाकात को दोनों देशों के बीच रिश्ते सामान्य होने की शुरुआत के तौर पर देखा गया. इस दौरान दोनों नेताओं ने आपसी सहयोग बढ़ाने पर जोर दिया.

ये भी पढ़ें:
उत्तर कोरिया संबंध रूस के साथ: ‘रूस के साथ संबंधों को और मजबूत करेंगे’, अमेरिकी चेतावनी के बावजूद उत्तर कोरिया ने जवाबी कार्रवाई की