अयोध्या ही नहीं इस ‘राम नगरी’ ने भी दिया झटका, बुंदेलखंड की ये सीट भी हारी बीजेपी, जानें बड़ी वजह

लोकसभा चुनाव परिणाम 2024: अयोध्या में राम मंदिर के मुद्दे पर बीजेपी ने पूरे देश में चुनावी माहौल बनाया, लेकिन उसी अयोध्या में बीजेपी प्रत्याशी लल्लू सिंह 54567 वोटों से चुनाव हार गए। बीजेपी को न सिर्फ भगवान राम की इस नगरी से झटका लगा है, बल्कि उनके दूसरे शहर से भी झटका लगा है, जहां उन्होंने अयोध्या के बाद अपने जीवन का ज्यादातर समय बिताया। जी हां, हम बात कर रहे हैं चित्रकूट की, जो उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र में आता है।

दरअसल, बांदा लोकसभा क्षेत्र में दो जिले आते हैं। पहला- बांदा और दूसरा- चित्रकूट। कुछ दशक पहले तक चित्रकूट बांदा जिले का हिस्सा हुआ करता था। मई 1997 में चित्रकूट को बांदा से अलग करके नए जिले का दर्जा दिया गया। जिसके बाद जिले के तौर पर तो बांदा और चित्रकूट अलग हो गए, लेकिन लोकसभा क्षेत्र के नाम पर दोनों की पहचान आज भी एक ही है। वहीं, अगर मौजूदा लोकसभा चुनाव 2024 की बात करें तो यहां से भी बीजेपी समाजवादी पार्टी से 71210 वोटों से चुनावी जंग हार चुकी है।

बांदा लोकसभा क्षेत्र से इस बार कुल 12 प्रत्याशी मैदान में थे, जिसमें मुख्य मुकाबला भाजपा के मौजूदा सांसद आरके सिंह पटेल और सपा के कृष्ण शिवशंकर पटेल के बीच था। शायद पहली बार दो प्रत्याशी दो अलग-अलग जिलों से थे, मसलन आरके सिंह पटेल मूल रूप से चित्रकूट जिले के मुख्यालय कर्वी के निवासी हैं, जबकि सपा के कृष्ण शिवशंकर पटेल बांदा जिले के बबेरू कस्बे के मूल निवासी हैं। स्थानीय लोगों का मानना ​​है कि शायद इसी वजह से पटेल समुदाय का वोट उनके जिले तक सीमित हो गया।

यह भी पढ़ें: बिना सामान के IGIA पहुंची महिला तो भड़के CISF जवान, राज खुला तो दिखाए ‘तेवर’, जब मामला नहीं सुलझा तो… एयरपोर्ट पर बिना बैगेज के पहुंची महिला को देखते ही CISF को शक हुआ। कई घंटों तक CCTV की निगरानी के बाद जब राज खुला तो इस महिला की चालाकी देखकर हर कोई हैरान रह गया। क्या है पूरा मामला, जानिए क्लिक इसे करें।

भाजपा सांसदों और मतदाताओं के बीच संबंध
वरिष्ठ अधिवक्ता महेश त्रिपाठी ने कहा कि ब्राह्मण मतदाताओं में भाजपा के प्रति कोई नाराजगी नहीं है, लेकिन सांसद आरके सिंह पटेल से उनके संबंध बहुत अच्छे नहीं हैं। वहीं, चुनाव से कुछ समय पहले वायरल हुए वीडियो ने भी आग में घी डालने का काम किया, जिसमें वे ब्राह्मणों पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते पाए गए थे। इस वीडियो के जारी होने के बाद ब्राह्मण मतदाताओं ने लगभग तय कर लिया था कि वे भाजपा को वोट नहीं देंगे, चाहे पीएम मोदी की कीमत पर ही क्यों न हो।

बसपा प्रत्याशी के रूप में मिला विकल्प
स्थानीय मतदाताओं का कहना है कि जैसे ही बहुजन समाज पार्टी ने मयंक द्विवेदी को चुनाव में उतारा, ब्राह्मण मतदाताओं को एक विकल्प मिल गया। इसके बाद जो मतदाता भाजपा छोड़कर सपा में शामिल नहीं हुए, उन्होंने मयंक द्विवेदी को वोट दिया। लोकसभा चुनाव 2024 में बसपा प्रत्याशी मयंक द्विवेदी को कुल 2,45,745 वोट मिले हैं। और इतने वोट नतीजे पलटने के लिए काफी हैं। मयंक द्विवेदी के प्रभाव का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आरके सिंह पटेल अपनी गृह विधानसभा कर्वी में भी चुनाव हार गए हैं।

यह भी पढ़ें: पहली बार किसी एयरहोस्टेस ने किया ऐसा कुछ, गैरकानूनी ही नहीं…घिनौना भी था ये कृत्य, हर कोई हैरान… देश में शायद यह पहला मामला है जब किसी एयरहोस्टेस को इस तरह का गैरकानूनी और घिनौना काम करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। इस खुलासे के बाद आरोपी एयरहोस्टेस को न सिर्फ गिरफ्तार किया गया है बल्कि 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भी भेज दिया गया है। पूरा मामला जानने के लिए यहां क्लिक करें क्लिक इसे करें।

कृष्ण को मिला MY समीकरण का लाभ
स्थानीय लोगों के मुताबिक कृष्णा शिवशंकर पटेल को एमवाय समीकरण का भी फायदा मिला है। उन्हें पटेल समुदाय के साथ-साथ मुस्लिम और यादवों का भी एकतरफा वोट मिला है। वहीं बबेरू से सपा विधायक विशंभर सिंह के समर्थन ने उन्हें जीत की दहलीज तक पहुंचाया। आपको बता दें कि सांसद बनने से पहले कृष्णा शिवशंकर पटेल बांदा जिला पंचायत की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं। साथ ही उनके पति शिवशंकर सिंह पटेल कल्याण सिंह के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार में राज्यमंत्री रह चुके हैं।

जानें किसे मिले कितने वोट
अब, जब हम इस पर बात कर रहे हैं, तो आपको यह भी जान लेना चाहिए कि 2024 के लोकसभा चुनाव में किस उम्मीदवार को कितने वोट मिले। तो, बांदा लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार कृष्ण शिवशंकर सिंह पटेल को 4,06,567 वोट मिले। उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी आरके सिंह पटेल को 3,35,357 वोट मिले। तीसरे नंबर पर रहे बीएसपी के मयंक द्विवेदी को 2,45,745 वोट मिले। बाकी उम्मीदवार सिर्फ दस हजार वोटों पर सिमट गए।

टैग: 2024 लोकसभा चुनाव, बांदा समाचार, चित्रकूट समाचार, लोकसभा चुनाव 2024