अरविंद केजरीवाल गिरफ्तारी: अब आगे केजरीवाल का क्या होगा…? क्या संजय सिंह का फॉर्मूला अपनाएंगे सीएम अरविंद या फिर…

दिल्ली शराब घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद गुरुवार रात दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया। दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री आवास के पास सड़क जाम करने की कोशिश कर रहे आम आदमी पार्टी (आप) के विधायकों समेत करीब दो दर्जन विधायकों को हिरासत में ले लिया है। जब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम केजरीवाल से उनके आवास पर पूछताछ कर रही थी, तो पार्टी नेता और कार्यकर्ता इलाके में इकट्ठा होने लगे।

अब जब अरविंद केजरीवाल गिरफ्तार हो गए हैं तो केजरीवाल को मिलने वाली कानूनी राहत के विकल्प बदल गए हैं. अब गिरफ्तारी पर रोक लगाने की याचिका खत्म हो गई है. अब केजरीवाल को गिरफ्तारी को चुनौती देनी होगी. केजरीवाल की गिरफ्तारी के बाद इस बात की संभावना नहीं है कि उन्हें सीधे सुप्रीम कोर्ट से राहत मिलेगी.

दिल्ली शराब घोटाले में अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी का आधार क्या है? ईडी ने लगाए थे ये आरोप

पहला कानूनी विकल्प
कानूनी राहत के लिए उनका पहला विकल्प जमानत के लिए आवेदन करना होगा। जमानत के लिए उन्हें पहले निचली अदालत का रुख करना होगा.

दूसरा विकल्प
दूसरा विकल्प यह होगा कि गिरफ्तारी की प्रक्रिया पर सवाल उठाकर दिल्ली हाई कोर्ट/सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी जाए।

संजय सिंह ने ये विकल्प आज़माया था
संजय सिंह पहले भी ये विकल्प आजमा चुके हैं. निचली अदालत और दिल्ली हाई कोर्ट से खारिज होने के बाद संजय सिंह की जमानत याचिका सुप्रीम कोर्ट में लंबित है. गिरफ्तारी को चुनौती देने वाली संजय सिंह की दूसरी याचिका भी हाई कोर्ट से खारिज होने के बाद सुप्रीम कोर्ट में लंबित है.

पीएमएलए को लेकर हाल ही में दिए गए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मुताबिक, ईडी को आरोपी को लिखित में बताना होगा कि गिरफ्तारी का आधार क्या है? वह प्रक्रिया अभी भी चल रही है.

टैग: अरविंद केजरीवाल, दिल्ली शराब घोटाला, संजय सिंह