अरुणाचल प्रदेश पर चीन का दावा भारत चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता झांग ज़ियाओगांग जुंगनान

अरुणाचल प्रदेश पर चीन का दावा: अरुणाचल प्रदेश को लेकर चीन के नापाक बोल जारी हैं. उनका कहना है कि अरुणाचल प्रदेश भारत का नहीं बल्कि चीन का हिस्सा है. उन्होंने इस इलाके का नाम ‘जांगनान’ रखा है. चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता झांग शियाओगांग ने एक बयान में कहा है कि जांगनान चीन का अभिन्न अंग है. हमने ‘अरुणाचल प्रदेश’ को कभी मंजूरी नहीं दी है.’ यह हमारा हिस्सा है. हम भविष्य में भी इसकी इजाजत नहीं देंगे.

झांग शियाओगांग ने आगे कहा कि हम ‘जांगनान’ में भारत की कार्रवाई की कड़ी निंदा करते हैं। हम उनके साथ चल रहे विवाद का शांतिपूर्ण समाधान निकालना चाहते हैं. ऐसे में वहां की सरकार से अनुरोध है कि सीमा मुद्दे को और अधिक जटिल न बनाया जाए.

पीएम मोदी ने हाल ही में अरुणाचल प्रदेश का दौरा किया था

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में अरुणाचल प्रदेश और असम का दौरा किया है. भारतीय पीएम के इस दौरे से चीन सरकार परेशान है. पीएम मोदी ने अपने पिछले दौरे पर सेला टनल का उद्घाटन किया था.

सेला टनल रक्षा की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है

आपको बता दें कि सेला टनल सीमा क्षेत्र में रक्षा की दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण स्थान रखती है. उम्मीद है कि यह सुरंग सशस्त्र बलों की तैयारियों में काफी मददगार साबित होगी.

चीन ने भारत को दिया सुझाव

चीनी सरकार का कहना है कि भारत-चीन सीमा विवाद सुलझने तक भारत को ऐसी चीजों से बचना चाहिए। वहीं, भारतीय विदेश मंत्रालय ने चीन द्वारा अरुणाचल प्रदेश पर किए जा रहे दावे को पूरी तरह से खारिज कर दिया है.

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता का बयान

भारतीय प्रवक्ता रणधीर जयसवाल ने पिछले मंगलवार (12 मार्च 2024) को अपना बयान जारी कर कहा कि अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न अंग है और हमेशा रहेगा।

यह भी पढ़ें- बिहार की एक महिला अकेले ही चली गई अफगानिस्तान, जहां महिलाओं को अपने पति के बिना बाहर निकलने की इजाजत नहीं थी, जानिए क्या हुआ?