आईएमडी इंडिया हीटवेव अलर्ट ओडिशा पश्चिम बंगाल दिल्ली एनसीआर में बारिश मुंबई में येलो अलर्ट

भारत हीटवेव अलर्ट: भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने पूर्वी भारत में लू चलने की भविष्यवाणी की है। साथ ही आईएमडी ने अनुमान जताया है कि दिल्ली एनसीआर में तापमान एक से दो डिग्री सेल्सियस तक बढ़ जाएगा.

समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए आईएमडी के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. नरेश कुमार ने कहा, ”अनुमान है कि आने वाले 2 से 3 दिनों में दिल्ली में तापमान 38 डिग्री सेल्सियस रहेगा. मंगलवार (23 अप्रैल, 2024) को दिल्ली एनसीआर में बारिश हो सकती है.” पूर्वी भारत में कई जगहों पर आने वाले 4 से 5 दिनों में तापमान 44 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है.

डॉ. नरेश कुमार ने आगे कहा कि भारत में इस समय लू की स्थिति बनी हुई है और अगले 4-5 दिनों में यह और बढ़ सकती है. बढ़ते तापमान के कारण पश्चिम बंगाल में रेड अलर्ट जारी किया गया, जबकि ओडिशा में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया. इसके अलावा मुंबई के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है.

दक्षिणी राज्यों में कैसा रहेगा मौसम?
डॉ. नरेश कुमार ने कहा कि दक्षिणी राज्यों केरल, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में गर्म और आर्द्र मौसम की संभावना जताई गई है. रविवार (21 अप्रैल, 2024) को भारत के कई हिस्सों में भीषण गर्मी पड़ी। वहीं, कई इलाकों में अधिकतम तापमान सामान्य से चार से छह डिग्री सेल्सियस अधिक दर्ज किया गया.

आईएमडी के अनुसार, ओडिशा और रायलसीमा, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, विदर्भ, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान 42 से 45 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया। बिहार, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, पुडुचेरी और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान 40 से 42 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा.

इस महीने यह लू की दूसरी लहर है। पहले चरण में ओडिशा, झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और गुजरात के कुछ हिस्सों में अत्यधिक गर्मी पड़ी थी.

अप्रैल-जून में कैसा रहेगा मौसम?
मौसम कार्यालय ने कहा है कि अप्रैल में देश के विभिन्न हिस्सों में चार से आठ दिन तक लू चलने की संभावना है, जबकि सामान्य तौर पर एक से तीन दिन लू वाले दिन होते हैं. पूरे अप्रैल-जून की अवधि में सामान्य चार से आठ दिनों की तुलना में गर्मी की लहर दस से 20 दिनों तक रहने की उम्मीद है।

कहां चलेगी लू?
जिन क्षेत्रों में बड़ी संख्या में लू वाले दिन देखने का अनुमान है उनमें मध्य प्रदेश, गुजरात, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, मध्य महाराष्ट्र, विदर्भ, मराठवाड़ा, बिहार और झारखंड शामिल हैं। कुछ स्थानों पर लू 20 दिनों से अधिक समय तक चल सकती है।

अत्यधिक गर्मी बिजली ग्रिड पर दबाव डाल सकती है और इसके परिणामस्वरूप भारत के कुछ हिस्सों में पानी की कमी हो सकती है। आईएमडी समेत वैश्विक मौसम एजेंसियां ​​भी साल के अंत तक ला नीना की स्थिति की उम्मीद कर रही हैं।

इनपुट भाषा से भी.

ये भी पढ़ें-Weather Forecast: बारिश कब दिलाएगी राहत? बंगाल-झारखंड में पारा 40 के पार, कई राज्यों में लू का अलर्ट