इटली की पीएम जॉर्जिया मेलोनी बनीं किंगमेकर, यूरोपीय संघ के चुनावों में दिखाई ताकत, दक्षिणपंथी पार्टियों ने संभाला कब्ज़ा

एक तरफ भारत में पीएम मोदी के नेतृत्व में नई सरकार अपना कामकाज संभाल रही है। वहीं दूसरी तरफ यूरोपीय संसद के लिए हुए चुनावों में धुर दक्षिणपंथी पार्टियों ने बड़ी जीत दर्ज की है। इससे कई देशों की सरकारें हिल गई हैं। लेकिन इटली की प्रधानमंत्री जॉर्जिया मेलोनी की पार्टी ब्रदर्स ऑफ इटली ने निर्णायक जीत हासिल की है। यूरोपीय संघ की संसद में उनकी पार्टी की सीटें दोगुनी से भी ज्यादा हो गई हैं। इसके साथ ही जॉर्जिया मेलोनी अपने देश के साथ-साथ यूरोप की भी एक मजबूत नेता के तौर पर उभरी हैं।

सोमवार को जारी नतीजों के मुताबिक कुल 27 सदस्य देशों वाले यूरोपीय संघ में सत्ता की चाबी दक्षिणपंथी पार्टियों के हाथ में चली गई है। 720 सदस्यों को चुनने के लिए हुए चुनाव में 97% वोटों की गिनती के बाद मेलोनी की पार्टी ब्रदर्स ऑफ इटली को 28.82% वोट मिले हैं। यह सितंबर 2022 के राष्ट्रीय चुनावों में मिले 26% से ज़्यादा है। इससे पता चलता है कि देश में उनकी लोकप्रियता बहुत तेज़ी से बढ़ी है।