इतनी सी गलती और मारुति को कार की पूरी रकम लौटानी होगी, अगर देरी हुई तो रकम पर 9 फीसदी ब्याज भी देना होगा.

मलप्पुरम (केरल)। केरल में एक उपभोक्ता आयोग ने मोटर वाहन कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड को एक ग्राहक को बेची गई कार की कीमत वापस करने का आदेश दिया है। यह आदेश किसी दुर्घटना में वाहन का एयरबैग न खुलने से होने वाले नुकसान पर दिया गया है. मलप्पुरम जिला उपभोक्ता आयोग ने मलप्पुरम जिले के निवासी मोहम्मद मुसलियार की शिकायत पर विचार करने के बाद यह आदेश पारित किया।

मंगलवार को एक आधिकारिक बयान में आयोग के हवाले से कहा गया कि शिकायत के अनुसार, जिस कार में शिकायतकर्ता यात्रा कर रहा था, वह 30 जून, 2021 को दुर्घटनाग्रस्त हो गई और व्यक्ति को गंभीर चोटें आईं। हादसे में वाहन गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हो गया।

उपभोक्ता ने निवारण निकाय से संपर्क किया और आरोप लगाया कि यह निर्माता की गलती थी कि ‘एयरबैग’ नहीं खुला, जिससे गंभीर चोटें आईं। मोटर वाहन निरीक्षक ने यह भी कहा कि दुर्घटना के समय एयरबैग काम नहीं कर रहा था.

बयान में कहा गया है कि आयोग ने वाहन की कीमत 4,35,854 रुपये और मुकदमे की लागत के रूप में 20,000 रुपये वापस करने का आदेश दिया है। आयोग ने कहा कि यदि एक माह के भीतर आदेश का पालन नहीं किया गया तो इस राशि पर नौ प्रतिशत ब्याज लगाया जायेगा.

टैग: उपभोक्ता न्यायालय, केरल, मारुति सुजुकी