इब्राहिम रईसी के निधन के बाद ईरान में राष्ट्रपति चुनाव शुरू, जानें किन उम्मीदवारों ने दाखिल किया नामांकन

छवि स्रोत : एपी
अहमदीनेजाद, ईरान के पूर्व राष्ट्रपति।

दुबई: ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की मौत के बाद देश में राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो गई है। ईरान के संविधान के अनुसार किसी मौजूदा राष्ट्रपति की मौत के बाद 50 दिनों के भीतर चुनाव कराना जरूरी होता है। ऐसे में ईरान में राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो गई है। ईरान के पूर्व राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद ने भी रविवार को राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपना नामांकन दाखिल कर दिया है।

बता दें कि पिछले महीने राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गई थी। इसके बाद वहां राष्ट्रपति चुनाव हो रहे हैं। अहमदीनेजाद के नामांकन से सुप्रीम लीडर अयातुल्ला अली खामेनेई दबाव में आ जाएंगे। वजह साफ है कि अहमदीनेजाद ने 85 वर्षीय सुप्रीम लीडर को खुली चुनौती दी थी और 2021 के राष्ट्रपति चुनाव में भाग लेने के उनके प्रयासों को अधिकारियों ने विफल कर दिया था।

28 जून को होंगे चुनाव

अहमदीनेजाद ने ऐसे समय में अपना नामांकन दाखिल किया है जब ईरान और पश्चिमी देशों के बीच तेहरान के परमाणु कार्यक्रम, रूस को हथियारों की खेप और असंतुष्टों पर कार्रवाई को लेकर तनाव बढ़ रहा है। तेहरान में एसोसिएटेड प्रेस के पत्रकारों ने अहमदीनेजाद को आंतरिक मंत्रालय में आते और चुनाव लड़ने के लिए पंजीकरण प्रक्रिया शुरू करते देखा। उनके समर्थकों ने उनके आगमन से पहले नारे लगाए और ईरानी झंडे लहराए। देश में 28 जून को राष्ट्रपति चुनाव होने हैं। अहमदीनेजाद 2005 से 2013 के बीच दो कार्यकालों के लिए देश के राष्ट्रपति रहे।

खामेनेई ने अपने करीबी सहयोगी मोहम्मद मोखबर को कार्यवाहक राष्ट्रपति नियुक्त किया है

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनेई ने राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत के बाद ईरान के प्रथम उपराष्ट्रपति मोहम्मद मोखबर को देश का कार्यवाहक राष्ट्रपति नियुक्त किया है। रईसी की मौत की पुष्टि होने के तुरंत बाद शोक संदेश जारी करते हुए सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनेई ने इसकी घोषणा की थी। मोखबर जल्द ही अपना नामांकन भी दाखिल कर सकते हैं। माना जा रहा है कि मुख्य मुकाबला इन्हीं दोनों नेताओं के बीच होगा। (एपी)

यह भी पढ़ें

पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा की धमकी को नज़रअंदाज़ करते हुए दक्षिण अफ़्रीका आज आम चुनावों के नतीजों की घोषणा करेगा



चीन कीव में युद्ध विराम नहीं चाहता, यूक्रेन शांति वार्ता में भाग न लेने के लिए अन्य देशों पर दबाव जारी

नवीनतम विश्व समाचार