इमरान खान की पार्टी ने शाहबाज सरकार पर बोला जोरदार हमला, 10 मार्च को देशव्यापी विरोध प्रदर्शन का किया ऐलान

छवि स्रोत: फ़ाइल
इमरान खान

पाकिस्तान राजनीति: पाकिस्तान में सियासी उथल-पुथल के बीच आखिरकार शाहबाज शरीफ की सरकार बन गई. उन्होंने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. लेकिन दूसरी तरफ इमरान खान की पार्टी पीटीआई यानी तहरीक-ए-इंसाफ ने शाहबाज सरकार पर निशाना साधा है. शाहबाज सरकार को ‘फर्जी’ सरकार करार दिया है. साथ ही चुनाव में धांधली और शाहबाज सरकार के खिलाफ 10 मार्च को देशव्यापी विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया गया है.

शाहबाज शरीफ के पीएम बनने के बाद भी पाकिस्तान में सियासी बवाल थमा नहीं है. इमरान खान की पार्टी पीटीआई ने शाहबाज सरकार पर ‘जनादेश की चोरी’ का आरोप लगाया. आपको बता दें कि जब इमरान खान की पार्टी को चुनाव चिन्ह क्रिकेट बैट नहीं मिला तो उनकी पार्टी के उम्मीदवारों ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा और इमरान के ज्यादातर समर्थक चुनाव जीत गए. चुनाव जीतने वाले 104 उम्मीदवार इमरान समर्थक थे. इसके बावजूद पीपीपी यानी बिलावल की पार्टी और नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन ने गठबंधन कर सरकार बना ली.

पीटीआई कार्यकर्ता सड़कों पर उतरेंगे

पीटीआई के वरिष्ठ नेता असद क़ैसर ने पत्रकारों से बात की. इस दौरान उन्होंने कहा, ”हम सभी राजनीतिक ताकतों को एकजुट करेंगे और कानून और संविधान के दायरे में आंदोलन शुरू करेंगे.” जियो न्यूज के मुताबिक, “नेशनल असेंबली के पूर्व स्पीकर कैसर ने कहा कि वे सभी प्रांतों में सड़कों पर उतरने की योजना बना रहे हैं।” क़ैसर ने कहा, “हमारा आंदोलन जारी रहेगा। सभी राजनीतिक ताकतों को एक साथ लाया जाएगा।” उन्होंने कहा कि वे समान विचारधारा वाले दलों के साथ गठबंधन बनाएंगे।

चुनाव नतीजों में किसी को बहुमत नहीं मिला

चुनाव 8 फरवरी को हुए थे. इसके बाद कई दिनों तक जोड़-तोड़ चलती रही. आम चुनावों में पीटीआई समर्थित उम्मीदवारों ने 266 में से 90 से अधिक सीटों पर जीत हासिल की। वहीं पीएमएल-एन ने 75 सीटों पर कब्जा किया था. बिलावल भुट्टो की पार्टी को 54 सीटें हासिल हुई थीं. मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट-पाकिस्तान (एमक्यूएम-पी) पार्टी ने 17 सीटें जीतीं।

नवीनतम विश्व समाचार