ईरान हमला: ‘मैं साफ कर देना चाहता हूं…हम खुद फैसला करेंगे’, इजरायली पीएम बोले- जो जरूरी होगा वो करेंगे

येरूशलम, इसरायल)। सीरिया में ईरान के दूतावास पर हमले के बाद पश्चिम एशिया में हालात खराब हो गए हैं. सशस्त्र संघर्ष की संभावना काफी बढ़ गई है. ईरान ने पहली बार खुलेआम इजराइल पर हमला किया. ईरान ने इजराइल पर सैकड़ों ड्रोन और मिसाइलों से हमला किया. हालाँकि, इज़राइल और उसके सहयोगियों ने 300 से अधिक ड्रोन और मिसाइलों को निष्क्रिय कर दिया। इजरायल की जवाबी कार्रवाई और बढ़ते संघर्ष की आशंका के बीच अमेरिका समेत दुनिया के तमाम देशों ने प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से संयम बरतने की अपील की है, लेकिन उन्होंने इसे सिरे से खारिज कर दिया है. उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि जो भी जरूरी होगा, वो जरूर करेंगे.

इजरायल के प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अपने करीबी सहयोगियों के संयम के आह्वान को खारिज कर दिया, उन्होंने कहा कि उनका देश इस सप्ताह की शुरुआत में ईरान के बड़े हवाई हमले का जवाब कैसे देना है, यह तय करेगा। इज़राइल ने ईरान के अभूतपूर्व हमले का जवाब देने का वादा किया, लेकिन यह स्पष्ट नहीं किया कि वह कब और कैसे जवाब देगा। पिछले साल अक्टूबर में गाजा पट्टी पर शासन कर रहे हमास के लड़ाकों ने इजराइल पर हमला कर करीब 1200 लोगों की हत्या कर दी थी और कई लोगों को बंधक बना लिया था. इसके जवाब में इजराइल ने सैन्य अभियान शुरू किया जो अभी भी जारी है और इसके और भी गंभीर रूप लेने की आशंका है.

ईरान एयर स्ट्राइक: 185 ड्रोन, 110 बैलिस्टिक और 36 क्रूज़ मिसाइलें…इज़राइल पर ईरान के हमले से दुनिया भर में हड़कंप

पीएम नेतन्याहू की दो टूक
प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अपनी कैबिनेट बैठक में कहा, ‘मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं: हम अपने फैसले खुद लेंगे. इज़राइल अपनी रक्षा के लिए जो भी आवश्यक होगा वह करेगा। गौरतलब है कि हमले के बाद से इजराइल के सहयोगी उससे ऐसी किसी भी प्रतिक्रिया से दूर रहने का आग्रह कर रहे हैं जिससे संघर्ष और बढ़ सकता है. ब्रिटेन और जर्मनी के विदेश मंत्रियों ने भी बुधवार को अपनी-अपनी इज़राइल यात्रा के दौरान यही अपील दोहराई।

ड्रोन और मिसाइल हमले
‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ की रिपोर्ट के मुताबिक, ईरान ने 185 ड्रोन से इजरायल पर हमला किया। इसके अलावा सतह से सतह पर मार करने वाली 110 और 36 क्रूज मिसाइलें भी दागी गईं. इससे इजराइली इलाका तबाह हो गया. मीडिया में आए वीडियो को देखकर ऐसा लग रहा है मानो आतिशबाजी हो रही हो. रिपोर्ट के मुताबिक, ज्यादातर मिसाइलें और ड्रोन ईरान से लॉन्च किए गए, जबकि कुछ मिसाइलें इराक और यमन से भी दागी गईं। ईरानी हमले की जानकारी मिलते ही पश्चिमी देश इजरायल की रक्षा के लिए आगे आए. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने कहा कि ईरान द्वारा दागी गई लगभग सभी मिसाइलों और ड्रोनों को निष्क्रिय कर दिया गया।

टैग: ईरान समाचार, इजराइल, इजराइल ईरान युद्ध