उत्तर भारतीयों को लेकर DMK नेता दयानिधि मारन का विवादित बयान, कहा- ‘वे तमिलनाडु में शौचालय साफ करते हैं’

हिंदी भाषा पर डीएमके सांसद दयानिधि मारन: डीएमके सांसद डीएनवी सेंथिलकुमार ने संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान उत्तर भारत के राज्यों को गोमूत्र राज्य बताया था. इस बीच उत्तर भारतीयों को लेकर डीएमके के एक और नेता दयानिधि मारन के भी बोल बिगड़ते नजर आ रहे हैं. मारन ने हिंदी पट्टी के राज्य बिहार और उत्तर प्रदेश के लोगों को लेकर विवादित बयान देकर एक बार फिर राजनीतिक बहस का मुद्दा उठा दिया है.

डीएमके सांसद दयानिधि मारन ने कहा कि बिहार और उत्तर प्रदेश के जो लोग केवल हिंदी सीखते हैं वे निर्माण कार्य के लिए तमिलनाडु जाते हैं। वह सड़कों और शौचालयों की सफाई जैसे छोटे-मोटे काम करते हैं।

मारन ने यह उदाहरण केवल इसलिए दिया क्योंकि यह हिंदी सीखने के परिणामों को दर्शाता है। डीएमके सुप्रीमो एमके स्टालिन के निर्देश के बावजूद इस तरह के बयान से एक बार फिर उत्तर भारत और दक्षिण भारत के बीच भाषाई मुद्दा गरमा सकता है.

यह भी पढ़ें: ओपिनियन पोल: क्या 2024 चुनाव तक एकजुट रह पाएगा विपक्षी गठबंधन भारत? ओपिनियन पोल में चौंकाने वाला खुलासा