उपग्रह चित्र से पता चला कि चीन में अंतिम इस्लामी शैली की मस्जिद के गुंबद टूटे हुए थे

चीन समाचार: चीन में इस्लामी शैली की विशेषताओं को बरकरार रखने वाली आखिरी बड़ी मस्जिद के गुंबदों को ध्वस्त कर दिया गया है। इस मस्जिद की मीनारों में आमूलचूल परिवर्तन किया गया है। यह कार्रवाई चीन में इस्लाम के प्रचलन को रोकने के लिए की गई है।

शादियन की ग्रैंड मस्जिद चीन की सबसे बड़ी और सबसे शानदार मस्जिदों में से एक है। यह दक्षिण-पश्चिमी युन्नान प्रांत के ऊपर स्थित है।

पिछले साल तक यहां एक गुंबद था

पिछले साल तक, 21,000 वर्ग मीटर के इस परिसर में एक बड़ी इमारत थी, जिसके ऊपर एक टाइल वाला हरा गुंबद था जिस पर आधा चाँद बना हुआ था। दोनों तरफ चार छोटे गुंबद और ऊँची मीनारें थीं। 2022 की सैटेलाइट तस्वीर से पता चला कि मस्जिद का प्रवेश द्वार काली टाइलों से बना था।

नई तस्वीरों में बदली मस्जिद

इस साल की तस्वीरें, सैटेलाइट इमेज और गवाहों से पता चलता है कि चीन ने गुंबद को हटा दिया है और इसकी जगह हान चीनी शैली की पगोडा छत बनाई है। मीनारों को छोटा करके पगोडा टावरों में बदल दिया गया है। मस्जिद के बाहर से, छत पर अर्धचंद्र और तारा टाइलों का निशान दिखाई देता है। युन्नान की दूसरी ऐतिहासिक मस्जिद, नाजियायिंग, जो शादियन से 100 मील से भी कम दूरी पर है, को भी बदल दिया गया है।

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय समिति ने 2018 में एक दस्तावेज प्रकाशित किया था। इसमें मस्जिदों के नियंत्रण और एकीकरण की बात कही गई थी। इसमें सरकार से आग्रह किया गया था कि वह जितनी संभव हो उतनी मस्जिदों को ध्वस्त करे और कम निर्माण करे। इसके अलावा ऐसी संरचनाओं की कुल संख्या को कम करने का प्रयास करे। इसके अलावा दस्तावेज में यह भी कहा गया था कि मस्जिदों के निर्माण, लेआउट और वित्तपोषण पर निगरानी रखी जानी चाहिए।

यह भी पढ़ें: Bangladesh MP Murder: हनी ट्रैप में फंसे बांग्लादेशी सांसद ‘अनार’ को कसाई ने टुकड़ों में काटा, शव को बोरों में भरकर ठिकाने लगाया; CID ने सुलझाया पूरा केस