एबीपी न्यूज सीवोटर सर्वे: मोदी सरकार ने 5 महानुभावों को भारत रत्न देने का किया ऐलान, क्या मिलेगा राजनीतिक फायदा?

एबीपी न्यूज सीवोटर सर्वे: इस साल मोदी सरकार अब तक 5 हस्तियों को भारत रत्न देने का ऐलान कर चुकी है. केंद्र सरकार के इस फैसले का राजनीतिक असर समझने के लिए सी वोटर ने एबीपी न्यूज के लिए एक त्वरित सर्वे किया है.

क्या 5 हस्तियों को भारत रत्न देने के ऐलान से बीजेपी को मिलेगा राजनीतिक फायदा? इस सवाल के जवाब में 41 फीसदी लोगों ने कहा कि ये पीएम मोदी का मास्टर स्ट्रोक है. 17 फीसदी लोगों ने कहा कि इसका जनता पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

30 फीसदी लोगों का मानना ​​है कि इस पुरस्कार का राजनीतिक इस्तेमाल किया जा रहा है. वहीं 12 फीसदी लोगों ने कहा कि वे इस मुद्दे पर कुछ नहीं कह सकते.

सर्वे में लोगों ने क्या कहा?

  • मोदी को मास्टर स्ट्रोक 41 फीसदी मिला
  • 17 फीसदी जनता पर कोई असर नहीं
  • पुरस्कार का राजनीतिक उपयोग 30 प्रतिशत
  • 12 फीसदी नहीं कह सकते

पीएम मोदी ने किया था ‘भारत रत्न’ का ऐलान

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फेसबुक पर पोस्ट कर पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव, चौधरी चरण सिंह और कृषि वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न देने की घोषणा की थी. इससे कुछ दिन पहले ही पीएम मोदी ने जननायक कर्पूरी ठाकुर और पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को भी भारत रत्न पुरस्कार देने की घोषणा की थी.

इस तरह यह घोषणा की गई कि 2024 में एक बार में अधिकतम पांच लोगों को भारत रत्न दिया जाएगा. इससे पहले 1999 में एक साथ चार लोगों को भारत रत्न पुरस्कार देने की घोषणा की गई थी। पूर्व पीएम चौधरी चरण सिंह, पीवी नरसिम्हा राव और कृषि वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न देने की घोषणा के साथ ही देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान पाने वालों की कुल संख्या 53 हो गई है.

इन नेताओं को भारत रत्न पुरस्कार देने की घोषणा का कई पार्टियों ने स्वागत किया है. वहीं विपक्ष भी इसे लेकर मोदी सरकार पर राजनीति करने का आरोप लगा रहा है.

नोट- यह सर्वे आज ही किया गया है. सर्वेक्षण में त्रुटि का मार्जिन प्लस माइनस 3 से प्लस माइनस 5 प्रतिशत है।

यह भी पढ़ें: आम चुनाव, 2024: जनमत तैयार करने से लेकर मुद्दे बनाने तक राजनीतिक दलों का बोलबाला, आम जनता है सिर्फ मूकदर्शक