‘कई मुद्दों पर बनी सहमति’, किसानों से मुलाकात के बाद बोले सीएम भगवंत मान, वापस होंगे केस

नोएडा-ग्रेटर नोएडा के गांवों से किसानों के दिल्ली कूच के ऐलान के बाद दिल्ली और नोएडा की सीमाएं सील कर दी गईं और आज नोएडा में भी ट्रैफिक डायवर्ट कर दिया गया. किसान 13 फरवरी को जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेंगे. फिलहाल वे बॉर्डर पर ही विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. इस बीच उन्हें मनाने की कोशिश की जा रही है. 8 फरवरी को पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान समेत 3 केंद्रीय मंत्रियों ने चंडीगढ़ में उनसे बात की और उन्हें मनाने की कोशिश भी की.

कुछ मुद्दों पर सहमति बनी
एएनआई के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, नित्यानंद राय और अर्जुन मुंडा ने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के साथ चंडीगढ़ में किसान नेताओं के साथ बैठक की और उनकी समस्याएं जानने की कोशिश की. बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा कि कई मुद्दों पर सहमति बनी है. इसमें पिछले किसान आंदोलन के दौरान किसानों पर दर्ज केस वापस लेना भी एक अहम मुद्दा है जिस पर सरकार सहमत हो गई है.



पराली को लेकर भी चर्चा हुई
भगवंत मान ने कहा है कि एक और बैठक की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि किसान संगठनों ने भी आश्वासन दिया है कि वे इस मामले पर आपस में चर्चा करेंगे. उन्होंने कहा कि वह किसानों के वकील बनकर उनका प्रतिनिधित्व करते रहेंगे। उन्होंने बताया कि इस बैठक में पराली पर भी चर्चा हुई. सरकार ने नकली कीटनाशक और नकली बीज बनाने वाली कंपनियों के खिलाफ कड़ी सजा के प्रावधान पर भी सहमति दे दी है.

ये है किसानों की मांग
आपको बता दें कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में किसान समूह स्थानीय विकास प्राधिकरणों द्वारा अधिग्रहित अपनी जमीन के बदले में अधिक मुआवजे और विकसित भूखंडों की मांग को लेकर दिसंबर 2023 से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारी किसान समूहों ने अपनी मांगों पर दबाव बनाने के लिए बुधवार को किसान महापंचायत और गुरुवार को राष्ट्रीय राजधानी में संसद तक मार्च का आह्वान किया है।