करोड़ों गरीब बच्चों को होगा फायदा, मोदी सरकार की ये योजना किसी वरदान से कम नहीं

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार गरीबों और वंचित वर्गों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के साथ-साथ उनके भोजन की उचित व्यवस्था करने के लिए अथक प्रयास कर रही है। देश में मौजूद सरकारी स्कूलों के करोड़ों बच्चों को 5 साल तक मुफ्त भोजन उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना 2023 शुरू की गई है। इस योजना के माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा उन सभी बच्चों को लाभ प्रदान किया जाएगा जो सरकारी स्कूलों में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं।

इस योजना की शुरुआत केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने 29 सितंबर 2023 को की थी। इस योजना के तहत देश के सभी सरकारी स्कूलों के बच्चों को 5 साल तक सरकार द्वारा मुफ्त भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना का लाभ केवल सरकारी स्कूलों के बच्चों को ही मिलेगा। केंद्रीय मंत्री ने बताया था कि इस योजना के तहत बच्चों को दोपहर का भोजन दिया जाएगा. ताकि देश के बच्चों को पौष्टिक भोजन मिल सके और वे स्वस्थ रह सकें।

इस योजना को सफल बनाने के लिए केंद्र सरकार 1.71 लाख करोड़ रुपये खर्च करेगी. इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य यह है कि बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ भोजन भी मिले ताकि वे आत्मनिर्भर और सशक्त बन सकें। इस योजना के जरिए शिक्षा में सामाजिक और लैंगिक भेदभाव को खत्म किया जा सकेगा।

इस योजना को चलाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा 54061.73 करोड़ रुपये दिए जाएंगे और राज्यों का योगदान 31733.17 करोड़ रुपये होगा। इस योजना के तहत पौष्टिक अनाज खरीदने के लिए अतिरिक्त 45,000 करोड़ रुपये दिए जाएंगे. वहीं पहाड़ी राज्यों में इस योजना के संचालन का 90 फीसदी खर्च केंद्र सरकार और 10 फीसदी खर्च राज्य सरकार वहन करेगी. केंद्र सरकार का लक्ष्य इस योजना के जरिए स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति बढ़ाना है। केंद्र सरकार के मुताबिक इस योजना का लाभ देश के 11 लाख 20 हजार 11.8 करोड़ से ज्यादा छात्रों को दिया जाएगा.

टैग: मोदी सरकार, नरेंद्र मोदी