कांग्रेस के मनी हेस्ट पर पीएम मोदी ने कहा, कांग्रेस के अस्तित्व में आने पर कल्पना की जरूरत नहीं है, धीरज साहू मामले पर नरेंद्र मोदी का तंज

भ्रष्टाचार पर पीएम मोदी ने कांग्रेस पर बोला हमला: कांग्रेस पार्टी के राज्यसभा सांसद धीरज साहू के ठिकानों पर चल रही छापेमारी में 351 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम बरामद हुई है. इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर कांग्रेस पर निशाना साधा है.

पीएम मोदी ने बीजेपी के आधिकारिक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर किए गए एक वीडियो को रीट्वीट किया, जो सालों से मशहूर है और गिनती का है।

धीरज साहू के खिलाफ 6 दिसंबर से इनकम टैक्स की कार्यवाही चल रही थी. उनके घर से मिले पैसों की फोटो और वीडियो को लेकर बीजेपी ने वीडियो बनाकर कांग्रेस पर निशाना साधा है. एक हफ्ते से लगातार उनके ठिकानों पर सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है. भारी कैश की बरामदगी के बाद कांग्रेस पार्टी भी बैकफुट पर है.

धीरज साहू के घर पर छापेमारी खत्म

सांसद धीरज साहू के ठिकानों पर चल रही आयकर विभाग की कार्रवाई मंगलवार (12 दिसंबर) को पूरी हो गई। छह दिन पहले झारखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल में धीरज साहू के 9 ठिकानों पर छापेमारी कर तलाशी ली गई थी. रविवार (10 दिसंबर) तक छापेमारी में कुल 351 करोड़ रुपये गिने गए. इसके बाद यह रकम और बढ़ने की उम्मीद है. यह किसी भी एजेंसी द्वारा की गई छापेमारी में अब तक की सबसे अधिक बरामदगी है.

ईडी भी कर सकती है जांच

केंद्र सरकार से जुड़े सूत्रों ने बताया है कि धीरज साहू के घर से बरामद हुई भारी नकदी के मामले की जांच अब केंद्रीय प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी कर सकती है. आयकर विभाग ने छापेमारी की जानकारी प्रवर्तन निदेशालय को दे दी है. आयकर विभाग के सूत्रों ने बताया है कि बलांगीर और टिटिलागढ़ से सबसे ज्यादा 310 करोड़ रुपये कैश मिले हैं. मुख्य रूप से बलांगीर और टिटिलागढ़ में शराब भट्टियों से भारी नकदी जब्त की गई। साहू ग्रुप पर भी टैक्स चोरी का आरोप है. इसी सिलसिले में छह दिसंबर को छापेमारी अभियान शुरू हुआ था. अधिकारियों ने कुल 176 बैगों में नकदी रखी थी।

,‘देशवासियों को ये देखना चाहिए’

जिस दिन कैश बरामदगी की जानकारी मिली थी, उसी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मुद्दे पर कांग्रेस पर निशाना साधा था. उन्होंने ‘एक्स’ पर लिखा था, ”देशवासियों को इन नोटों के ढेर को देखना चाहिए और फिर उनके (कांग्रेस) नेताओं के ईमानदार भाषण सुनने चाहिए।”

यह भी पढ़ें: धीरज साहू IT रेड: कहां से आए 353 करोड़ रुपये? कांग्रेस उस सांसद से जवाब मांग रही है जिसकी मशीनें आईटी छापे में नोट गिनने में सक्षम थीं।