कोविड के बढ़ते मामलों को देख एक्शन में आयी नीतीश सरकार, तैयार हुआ एक्शन प्लान, जारी किये गये कई निर्देश

पटना. देश के कई राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों और बिहार में भी दो मरीज मिलने के बाद बिहार सरकार एक्शन में आ गई है. इसकी गंभीरता इसी बात से समझी जा सकती है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को आनन-फ़ानन में उच्चस्तरीय बैठक कर न सिर्फ बिहार में कोविड के मामले की जानकारी ली, बल्कि इसकी रोकथाम के लिए सरकार क्या उपाय कर रही है, इसकी भी जानकारी ली. इसके लिए समीक्षा की और कई आवश्यक निर्देश भी दिये.

दरअसल, देशभर में कोविड के मामले बढ़ते जा रहे हैं. बिहार में दो मरीज मिलने की पुष्टि होते ही बिहार सरकार अलर्ट मोड में आ गई है. देश के कई राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सीएम नीतीश कुमार ने स्थिति को गंभीर मानते हुए 1 अणे मार्ग स्थित ‘संकल्प’ में उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की. बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से कोरोना के बारे में पूरी जानकारी दी.

प्रत्यय अमृत ने बताया कि हाल ही में देश में ओमीक्रॉन परिवार के जेएन.1 वैरिएंट के कई मामले पाए गए हैं। बिहार में भी कोरोना के 2 ऐसे मामले सामने आए हैं, जो बाहर से राज्य में आए लोगों में पाए गए हैं. उन्होंने बताया कि यह वेरिएंट ज्यादा घातक नहीं है. पाए गए दोनों कोरोना मरीज होम आइसोलेशन में हैं और स्वस्थ हैं। कोरोना के इस नए वेरिएंट को लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलर्ट है और इससे बचाव के लिए सभी जरूरी उपाय किए जा रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से पूरी जानकारी लेने के बाद अधिकारियों को निर्देश दिया कि कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए आरटीपीसीआर टेस्ट की संख्या बढ़ायी जाये. कोविड संचालन के निर्धारित मानकों का भी पालन किया जाए। वहीं, अस्पतालों में कोविड की एसओपी के अनुसार दवा, उपकरण, बेड, ऑक्सीजन, मैनपावर एवं अन्य सभी आवश्यक व्यवस्थाएं उपलब्ध रहनी चाहिए.

सीएम ने कहा कि कोविड को लेकर सोशल मीडिया और अन्य प्रचार माध्यमों से लोगों को कोरोना के प्रति सतर्क और जागरूक रहना चाहिए. अस्पतालों में सभी को मास्क का प्रयोग करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है. बैठक में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ. एस सिद्धार्थ, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत समेत कई अधिकारी भी मौजूद थे.

टैग: बिहार सरकार, नीतीश सरकार