क्या इज़राइल ने कानून तोड़ा और हथियारों का इस्तेमाल किया? जानिए अमेरिका ने ऐसा क्यों कहा?

छवि स्रोत: एपी
इजराइल हमास युद्ध

वाशिंगटन: अमेरिका और इजराइल के बीच मतभेद अब खुलकर सामने आ गए हैं. राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन ने कहा है कि गाजा में अमेरिका द्वारा दिए गए हथियारों का इस्तेमाल किया गया है. बाइडन प्रशासन ने यह भी कहा है कि इजराइल ने गाजा में अमेरिकी हथियारों का इस्तेमाल किया है, जिससे अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन हो सकता है. जारी युद्ध के कारण अमेरिकी अधिकारियों के पास अभी तक पूरे सबूत नहीं हैं.

अमेरिका का सख्त रुख

गाजा युद्ध में अमेरिका के सहयोगी देश ने अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन किया है, इसके ‘उचित’ सबूत वाली एक रिपोर्ट अमेरिकी संसद में पेश होने जा रही है. इसे बाइडन प्रशासन के अधिकारियों द्वारा इजराइल के खिलाफ की गई अब तक की सबसे कठोर टिप्पणी माना जा रहा है.

इजराइल ने अमेरिका की बात नहीं मानी

आपको बता दें कि अमेरिका बार-बार इजरायल से राफा पर हमला न करने की गुजारिश कर रहा था। इजराइल ने अमेरिका के विरोध को नजरअंदाज करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के अनुरोध को खारिज कर दिया था. इजराइल ने गाजा के दक्षिणी शहर राफा पर हवाई हमला किया था. इस हमले में महिलाओं और बच्चों समेत कम से कम 12 लोग मारे गए. इजराइल के इस हमले के बाद माना जा रहा था कि अमेरिका के साथ उसके रिश्ते और खराब हो सकते हैं. अब हालात कुछ ऐसे ही नजर आ रहे हैं.

इजराइल के पास पर्याप्त हथियार हैं

राफा पर हमले से पहले इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा था कि उनकी सेना के पास हमास से लड़ने के लिए पर्याप्त हथियार हैं. हमास के लिए अकेला इजराइल ही काफी है. हमास के ख़िलाफ़ युद्ध को सात महीने हो गए हैं. इजराइल और हमास के बीच चल रहे युद्ध के परिणामस्वरूप लगभग 35,000 फिलिस्तीनियों की मौत हो गई है, जिनमें ज्यादातर महिलाएं और बच्चे हैं। युद्ध की शुरुआत तब हुई जब हमास के आतंकियों ने इजराइल पर हमला कर दिया. (एपी)

यह भी पढ़ें:

कांगो में हिंसा जारी है, विस्थापितों के शिविरों पर बमबारी में अब तक 35 लोगों की मौत हो चुकी है.

संयुक्त राष्ट्र में फिलिस्तीन को मिलेगा पूर्ण सदस्य का दर्जा, भारत ने प्रस्ताव के पक्ष में किया वोट

नवीनतम विश्व समाचार