क्या रोहिणी आचार्य का नामांकन रद्द होगा? पटना हाईकोर्ट में याचिका स्वीकार, जानिए पूरा मामला – क्या सारण लोकसभा सीट से रद्द होगा लालू प्रसाद की बेटी रोहिणी आचार्य का नामांकन, राजीव प्रताप रूडी के खिलाफ पटना हाईकोर्ट में याचिका दायर

पटना. सारण लोकसभा क्षेत्र से राजद प्रत्याशी डॉ. रोहिणी आचार्य का नामांकन रद्द करने की मांग को लेकर पटना हाईकोर्ट में याचिका दायर की गयी है. याचिकाकर्ता नृपेंद्र कुमार चतुर्वेदी ने याचिका दायर कर रिटर्निंग ऑफिसर पर रोहिणी के खिलाफ शिकायत को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया है. बीजेपी प्रत्याशी राजीव प्रताप रूडी ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि हाईकोर्ट ने याचिका स्वीकार कर ली है.

दरअसल, बीजेपी ने सारण से राजद उम्मीदवार रोहिणी आचार्य के नामांकन पत्र और शपथ पत्र के खिलाफ राज्य के मुख्य चुनाव आयोग और सारण के रिटर्निंग ऑफिसर के समक्ष शिकायत की थी. शिकायत में कहा गया था कि रोहिणी आचार्य ने आयकर रिटर्न में अपनी आय और चल संपत्ति के बारे में हलफनामे में गलत जानकारी दी है. रोहिणी ने अपने हलफनामे में अपनी आय वर्ष 2022-23 के रिटर्न में 3,16,360/- रुपये, वर्ष 2021-22 में 1,67,840/- रुपये, वर्ष 2020-21 में 4,030/- रुपये घोषित की है। वर्ष 2019-20 में 3,000/- रु. 88,090 तथा वर्ष 2018-19 में 3,89,033/- रूपये दर्शाया गया है।

‘बीजेपी योगी को हटा देगी’ सीएम योगी ने केजरीवाल को दिया जवाब, कहा- ‘वो अपनी ताकत से मुझे हटा देंगे..’

पत्र के माध्यम से कहा गया है कि रोहिणी आचार्य सिंगापुर में रहती हैं लेकिन उन्होंने सिंगापुर में अपनी आय का ब्योरा नहीं दिया है. विदेशी आय का ब्योरा देना भी जरूरी है. पत्र में यह भी कहा गया है कि रोहिणी आचार्य ने अपना पता 208, कौटिल्य नगर, एमपी/एमएलए कॉलोनी, पटना लिखा है, जबकि अचल संपत्ति के कॉलम में उन्होंने केवल दानापुर, पटना में जमीन का जिक्र किया है. रोहिणी आचार्य पांच साल से ज्यादा समय से सिंगापुर में रह रही हैं लेकिन उन्होंने हलफनामे में यह नहीं बताया है कि वह भारत की निवासी हैं, जबकि यह बताना जरूरी है। उन्होंने इस बात की चर्चा भी नहीं की है कि वह एनआरआई (नॉन-रेजिडेंट इंडियन) बन गई हैं।

राहुल गांधी ने बाल कटवाने और दाढ़ी सेट कराने के लिए कितने पैसे दिए? 1000 या 500? दुकानदार ने स्वयं उत्तर दिया

उन्होंने हलफनामे में अपने पासपोर्ट की स्थिति के बारे में भी जानकारी नहीं दी है. इस संबंध में सारण आरओ से शिकायत करने के बाद जब बीजेपी की शिकायत आरओ ने खारिज कर दी तो अब इसे लेकर पटना हाईकोर्ट में याचिका दायर की गयी है.

टैग: बिहार समाचार, छपरा समाचार, लोकसभा चुनाव 2024, पटना समाचार, रोहिणी आचार्य