गठबंधन पर संशय के बीच दिल्ली हाईकमान से बीजेपी नेताओं को बुलावा, सीटों पर हो सकती है चर्चा- News18 हिंदी

भुवनेश्वर (भाषा)। ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजेडी) के साथ गठबंधन को लेकर अटकलें जारी हैं. गठबंधन को लेकर काफी समय से अटकलें चल रही हैं. इस बीच बीजेपी आलाकमान ने एक बार फिर प्रदेश अध्यक्ष मनमोहन सामल और प्रदेश चुनाव प्रभारी विजयपाल सिंह तोमर समेत प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं को चर्चा के लिए नई दिल्ली बुलाया है. आपको बता दें कि पिछली बार नई दिल्ली से लौटने के बाद सामल ने कहा था कि गठबंधन पर कोई चर्चा नहीं हुई. बीजेपी कुल 21 लोकसभा सीटों और 147 विधानसभा सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी.

सीट बंटवारे पर चर्चा संभव

प्रदेश अध्यक्ष मनमोहन सामल के मुताबिक चुनाव को लेकर राज्य के पार्टी नेताओं की एक टीम केंद्रीय नेताओं के साथ बैठक करने वाली है. हम सीट आवंटन पर चर्चा करेंगे. बैठक में सभी 147 विधानसभा सीटों और 21 लोकसभा क्षेत्रों पर विस्तार से चर्चा होगी. गठबंधन पर चर्चा के सवाल पर सामल ने कहा कि इस बारे में मेरा कुछ भी कहना समझदारी नहीं होगी.

बीजेडी प्रमुख का वीडियो आया सामने

बीजेडी प्रमुख नवीन पटनायक का एक वीडियो शनिवार को सोशल मीडिया पर सामने आया, जिसमें वह अपने सहयोगी और वरिष्ठ बीजेडी नेता वीके पांडियन से बात कर रहे थे. वीडियो में पांडियन ने पटनायक से पूछा, सर राजनीतिरे सबतु खरप जिनिसा कान (सर, राजनीति में सबसे खराब चीज क्या है)? इस पर पटनायक ने कहा कि गुजाब (अफवाह) और मिच्छा कथा (झूठ)।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: कांग्रेस ने बनाई 6 सदस्यीय कमेटी, CM समेत कई बड़े नाम शामिल, पार्टी और राज्य सरकार के बीच बेहतर होगा समन्वय

यह भी पढ़ें: प्रोफेसर ने अपने हाथों से की जिगर के टुकड़े की हत्या, सर्जिकल ब्लेड से की वारदात, फिर खुद चुनी मौत

यहां समझें सीटों का गणित

सूत्रों की मानें तो बीजेपी कुल 147 विधानसभा सीटों में से 55 सीटों की मांग कर रही है. वहीं, 112 सीटों पर कब्जा करने वाली बीजेडी 112 सीटें अपने पास रखना चाहती है और बीजेपी को 35 सीटें देना चाहती है. हालांकि, बीजेडी नेता सस्मिता पात्रा का दावा है कि इस बार हम 120 सीटें जीतेंगे. वहीं, बीजेपी 21 में से 14 लोकसभा सीटें मांग रही है लेकिन बीजेडी 10 लोकसभा सीटें देना चाहती है. फिलहाल ओडिशा की आठ लोकसभा सीटों पर बीजेपी का कब्जा है. इसी तरह के मुद्दों को सुलझाने के लिए चर्चा हो सकती है.

टैग:भुवनेश्वर, भुबनेश्वर समाचार, बी जे पी