चक्रवात रेमल के कारण पश्चिम बंगाल में भूस्खलन, ताजा अपडेट, भारी बारिश शुरू, 1 लाख लोगों को बांग्लादेश से निकाला गया

चक्रवात रेमल: चक्रवात रेमल के कारण पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश में लैंडफॉल शुरू हो गया है। बंगाल के कई इलाकों में भारी बारिश हो रही है। आईएमडी ने बताया कि बांग्लादेश और उससे सटे पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में लैंडफॉल की प्रक्रिया शुरू हो गई है, यह अगले 4 घंटों तक जारी रहेगी। चक्रवात रेमल को लेकर भारतीय नौसेना और एनडीआरएफ की टीमें अलर्ट मोड पर हैं।

आईएमडी के अनुसार, आज आधी रात तक बांग्लादेश और उससे सटे पश्चिम बंगाल के तटों पर अधिकतम 110-120 किलोमीटर प्रति घंटे की हवा की गति होगी। चक्रवात के रात 12:00-1:00 बजे के बीच बांग्लादेश को पार करने की उम्मीद है, जिसके बाद इसके कमजोर पड़ने की उम्मीद है।

आईएमडी ने चक्रवात रेमल के बारे में दी जानकारी

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, मौसम कार्यालय के प्रवक्ता ने बताया कि चक्रवात ने रात करीब साढ़े आठ बजे (स्थानीय समयानुसार) बांग्लादेश के मोंगला और खेपुपारा तट के दक्षिण-पश्चिमी हिस्से से होते हुए भारत के पश्चिम बंगाल तट को पार करना शुरू कर दिया है। उन्होंने बताया कि तूफान बांग्लादेश के दक्षिण-पश्चिमी तटीय इलाकों और पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप से उत्तर की ओर बढ़ रहा है और अगले पांच से सात घंटों में इसके तटरेखाओं को पार करने की संभावना है।

लाखों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया

भीषण चक्रवाती तूफान रेमल रविवार रात बांग्लादेश के तट से टकराया और अधिकारियों ने देश के निचले दक्षिण-पश्चिमी तटीय इलाकों से 8 लाख से अधिक लोगों को निकाला है। इसके अलावा पश्चिम बंगाल सरकार ने सुंदरबन और सागर द्वीप समेत तटीय इलाकों से करीब 1.10 लाख लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने की बैठक

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने चक्रवाती तूफान रामल से निपटने के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा के लिए बैठक की थी। चक्रवात के आधी रात के आसपास बांग्लादेश और उसके पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल के बीच तट से टकराने की आशंका है। भीषण चक्रवात के कारण पश्चिम बंगाल और कोलकाता के तटीय जिलों में भारी बारिश हुई है।

यह भी पढ़ें- Cyclone Remal: बंगाल में आधी रात को दस्तक देगा चक्रवात रेमल, पीएम मोदी ने की बैठक; 135 KM की रफ्तार से चलेंगी हवाएं