चुनावी मैदान में नहीं चल रहा फुटबॉल खिलाड़ी बाइचुंग भूटिया का जादू, 10 साल में लगातार छठी हार

नई दिल्ली। भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान बाइचुंग भूटिया को एक बार फिर चुनावी राजनीति में हार का सामना करना पड़ा। रविवार को आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, वह बरफंग सीट पर सत्तारूढ़ सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा के रिक्शाल दोरजी भूटिया से 4,346 मतों के अंतर से हार गए। चुनावी रुझानों के अनुसार, भूटिया की सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट पार्टी केवल एक सीट पर सिमट गई, जबकि मौजूदा एसकेएम ने 32 में से 31 सीटें जीतीं।

2024 के सिक्किम विधानसभा चुनाव 19 अप्रैल को एक ही चरण में हुए थे। भूटिया ने 2018 में अपनी खुद की हमरो सिक्किम पार्टी बनाई थी, लेकिन पिछले साल इसे एसडीएफ में मिला दिया। वह वर्तमान में हिमालयी राज्य में मुख्य विपक्षी दल एसडीएफ के उपाध्यक्ष हैं, जो अपनी सुरम्य झीलों के लिए जाना जाता है।

अरुणाचल, सिक्किम चुनाव परिणाम 2024: अरुणाचल में भाजपा ने प्रचंड जीत हासिल की, 46 सीटों पर कब्जा किया, सिक्किम में एसकेएम ने सबको रौंदा

पूर्व फुटबॉलर बाइचुंग भूटिया ने तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार के तौर पर पश्चिम बंगाल से दो बार चुनाव लड़ा। उन्होंने 2014 का लोकसभा चुनाव दार्जिलिंग से और 2016 का विधानसभा चुनाव सिलीगुड़ी से लड़ा। वे दोनों बार हार गए। इसके बाद उन्होंने अपना चुनाव क्षेत्र सिक्किम में बदल लिया और अपनी खुद की पार्टी बना ली। उन्होंने 2019 का विधानसभा चुनाव गंगटोक और तुमेन-लिंगी से लड़ा, लेकिन दोनों ही बार हार गए। वे गंगटोक से 2019 का उपचुनाव भी हार गए।

टैग: सिक्किम विधानसभा चुनाव, सिक्किम विधानसभा चुनाव 2024, सिक्किम समाचार