जापान में शुरू हुआ दुनिया का सबसे बड़ा परमाणु रिएक्टर, सूरज की तरह काम करेगा, 200 मिलियन डिग्री तक गर्म होगा

विश्व का सबसे बड़ा परमाणु संलयन रिएक्टर: जापान ने दुनिया का सबसे बड़ा परमाणु संलयन रिएक्टर शुरू कर दिया है। JT-60SA नाम की यह विशाल मशीन टोक्यो के उत्तर में नाका में एक हैंगर में स्थापित की गई है। यह स्वच्छ और असीमित ऊर्जा की खोज में एक महत्वपूर्ण क्षण का प्रतिनिधित्व करता है। आपको बता दें कि दुनिया के सभी परमाणु संयंत्र फिलहाल फ्यूजन पर चलते हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसे इस तरह से डिजाइन किया गया है कि बड़े पैमाने पर, सुरक्षित और कार्बन-मुक्त ऊर्जा उत्पन्न की जा सके। JT-60SA, छह मंजिला लंबा टोकामक, 200 मिलियन डिग्री सेल्सियस तक गर्म प्लाज्मा को समाहित करने और नियंत्रित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। जिसे बाद में लोगों या देश की जरूरतों के हिसाब से बड़े पैमाने पर स्थापित किया जा सकता है।

पढ़ें- किसकी है उड़नतश्तरी? CIA ने दुनियाभर से बरामद किए 9 UFO, पूर्व जासूस ने किया सनसनीखेज दावा

यूरोपीय संघ और जापान के बीच यह संयुक्त उद्यम वर्तमान में फ्रांस में निर्माणाधीन अंतर्राष्ट्रीय थर्मोन्यूक्लियर प्रायोगिक रिएक्टर (आईटीईआर) के अग्रदूत के रूप में कार्य करता है। दोनों परियोजनाएं विखंडन से शुद्ध ऊर्जा लाभ प्राप्त करने के महत्वाकांक्षी लक्ष्य को साझा करती हैं। यह एक मील का पत्थर है जो ऊर्जा प्रणालियों में क्रांति ला सकता है।

जेटी-60एसए के डिप्टी प्रोजेक्ट लीडर सैम डेविस का कहना है कि यह मशीन लोगों को फ्यूजन एनर्जी की ओर लाएगी। इसे बनाने में 500 वैज्ञानिक और इंजीनियर लगे हुए हैं। ये यूरोप और जापान की लगभग 50 कंपनियों से आए हैं। यह दुनिया का सबसे उन्नत टोकामक है। विखंडन से शुद्ध ऊर्जा लाभ की खोज हाल ही में संयुक्त राज्य अमेरिका में राष्ट्रीय इग्निशन सुविधा में हासिल की गई थी। जो संलयन ऊर्जा के इतिहास में एक मील का पत्थर साबित होने जा रहा है।

टैग: जापान, जापान समाचार, परमाणु ऊर्जा