जेल से बाहर निकलते ही क़ुरैशी को दोबारा गिरफ्तार कर लिया गया.

छवि स्रोत: FACEBOOK.COM/SMQURESHI.OFFICIAL
पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी.

लाहौर: पड़ोसी देश पाकिस्तान की राजनीति पिछले कुछ दिनों में काफी दिलचस्प हो गई है. यहां पता ही नहीं चलता कि कौन कब जेल से बाहर आ रहा है और किसे कालकोठरी में डाला जा रहा है. ताज़ा मामला पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी से जुड़ा है. पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के उपाध्यक्ष शाह महमूद कुरैशी को बुधवार को अदियाला जेल के बाहर से फिर गिरफ्तार कर लिया गया। पिछले हफ्ते ही सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें सिफर मामले में जमानत दे दी थी.

कुरेशी चिल्ला-चिल्ला कर विरोध कर रहे थे

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, 67 साल के कुरेशी पुलिस की कार्रवाई को ‘अवैध’ बताते हुए चिल्ला रहे थे और विरोध कर रहे थे. फुटेज में पंजाब पुलिस की वर्दी पहने एक अधिकारी उन्हें बख्तरबंद गाड़ी में धकेलता नजर आ रहा है. पार्टी ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा कि सिफर मामले में जमानत पर रिहा होने के बाद कुरैशी को अदियाला जेल के बाहर से फिर से गिरफ्तार कर लिया गया। पार्टी ने कहा कि रावलपिंडी के उपायुक्त हसन वकार चीमा द्वारा मंगलवार को कुरैशी की 15 दिन की हिरासत के लिए जारी आदेश वापस ले लिया गया।

‘मैं निर्दोष हूं, मुझे निशाना बनाया जा रहा है’

रिपोर्ट्स के मुताबिक, खबर लिखे जाने तक पुलिस ने इस मुद्दे पर कोई बयान जारी नहीं किया है. पुलिसकर्मियों द्वारा जबरन ले जाने के दौरान शाह महमूद कुरेशी लगातार कह रहे थे कि उन्हें अवैध तरीके से गिरफ्तार किया जा रहा है. क़ुरैशी ने कहा कि पुलिस सुप्रीम कोर्ट के आदेश का मज़ाक उड़ा रही है और क्रूरता और अन्याय चरम पर है. उन्होंने कहा, ”वे मुझे फिर से झूठे मामले में गिरफ्तार कर रहे हैं।” मैं देश का प्रतिनिधित्व करता हूं, मैं निर्दोष हूं और मुझे बिना किसी कारण के राजनीतिक प्रतिशोध के तहत निशाना बनाया जा रहा है।’

क़ुरैशी और इमरान को ज़मानत मिल गई

आपको बता दें कि देश की शीर्ष अदालत ने शुक्रवार को पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान और उनके करीबी सहयोगी कुरेशी को सिफर मामले में जमानत दे दी थी. कोर्ट ने दोनों नेताओं को 10-10 लाख रुपये की जमानत राशि जमा करने को कहा था. आपको बता दें कि पिछले कुछ महीनों में पाकिस्तान की राजनीति काफी बदल गई है और अब नवाज शरीफ भी देश लौट आए हैं. मौजूदा हालात को देखते हुए कहा जा सकता है कि देश के राजनीतिक माहौल में और भी दिलचस्प घटनाएं सामने आ सकती हैं.

नवीनतम विश्व समाचार