दुबई जाते समय अगर नहीं रखे ये दस्तावेज तो बिगड़ सकता है आपका प्लान, भारतीय रहें सतर्क

अगर आप भी दुबई जा रहे हैं तो जान लें कि कुछ नियमों में बदलाव किया गया है। खास तौर पर विजिटर वीजा पर जाने वाले यात्रियों के लिए नियम सख्त कर दिए गए हैं। ट्रैवल एजेंसी ने एमिरेट्स की फ्लाइट लेने वाले यात्रियों से 3000 दिरहम, वापसी का टिकट और जहां वे रह रहे हैं उसका सबूत साथ लाने को कहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एयरपोर्ट अधिकारियों की ओर से इन दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन किया जा रहा है। हाल के दिनों में कुछ ऐसे मामले भी सामने आए हैं, जब बिना दस्तावेजों वाले लोगों, खासकर भारतीयों को एयरपोर्ट पर ही फ्लाइट में चढ़ने से रोक दिया जा रहा है। इस वजह से कई यात्री दुबई एयरपोर्ट पर फंसे भी हुए हैं। ऐसे में अधिकारियों का कहना है कि हर यात्री को इस बात का खास ख्याल रखना होगा कि वह अपने दस्तावेज साथ लेकर जाए।

दिखाने होंगे ये दस्तावेज

ताहिरा टूर्स एंड ट्रैवल्स के मालिक और सीईओ फिरोज मलियाक्कल ने खलीज टाइम्स को बताया कि दुबई जाने वाले लोगों के पास वैध वीजा होना चाहिए, साथ ही कम से कम 6 महीने की वैधता वाला पासपोर्ट भी होना चाहिए। दुबई जाने वाले व्यक्ति को अपने साथ कन्फर्म रिटर्न टिकट भी लाना होगा। यह जांच इसलिए की जा रही है कि आपके पास दुबई में रहने के लिए पर्याप्त पैसे हैं या नहीं।

आवास की बुकिंग दिखानी होगी

अधिकारियों का कहना है कि यात्री के पास कम से कम 3000 दिरहम नकद या क्रेडिट कार्ड के रूप में होने चाहिए। इसके साथ ही यात्री को यह भी बताना होगा कि वह कहां ठहरने वाला है। अगर वह किसी रिश्तेदार या दोस्त के घर ठहर रहा है तो उसे इसकी जानकारी अधिकारियों को देनी होगी और अगर वह किसी होटल में ठहरता है तो उसकी बुकिंग भी दिखानी होगी।

आगंतुक के रूप में आगमन पर वीज़ा का लाभ

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जो भारतीय साधारण पासपोर्ट के साथ दुबई जा रहे हैं या जिनके पास यूके या ईयू देशों में यूएस ग्रीन कार्ड निवास वीजा है, वे 14 दिनों के लिए संयुक्त अरब अमीरात में आगंतुकों के रूप में आगमन पर वीजा का लाभ उठा सकते हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें पहले से ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा। यह भी कहा गया है कि अल्पकालिक वीजा को केवल एक बार, यानी केवल 14 दिनों के लिए बढ़ाया जा सकता है।"पाठ-संरेखण: औचित्य सिद्ध करें;">पहले से कराना होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

खास बात यह है कि भारतीय यात्रियों को वीजा ऑन अराइवल की सुविधा लंबे समय से दी जा रही है। यात्री अपनी फ्लाइट से उतरने के बाद इमिग्रेशन काउंटर पर जाकर वीजा प्राप्त कर लेते थे, लेकिन अब इसमें बदलाव किया गया है। यानी अब दुबई जाने से पहले यात्री को इसे ऑनलाइन रजिस्टर कराना होगा।

यह भी पढ़ें – पाकिस्तान हिंसा: ईशनिंदा के आरोप में भीड़ ने पाकिस्तान में दो ईसाई परिवारों पर कहर बरपाया, तोड़फोड़ और आगजनी