दुबई समाचार यूएई के क्राउन प्रिंस शेख हमदान ने इमाम मुअज्जिन के वेतन में वृद्धि का आदेश दिया

शेख हमदान समाचार: रमजान के मौके पर यूएई के क्राउन प्रिंस शेख हमदान बिन मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने दुबई में इमामों और मुअज्जिनों को तोहफा दिया है। उन्होंने इन सभी के वेतन और भत्ते बढ़ाने का आदेश दिया है.

यह वृद्धि दुबई में इस्लामिक मामलों और धार्मिक गतिविधियों के विभाग के तहत संचालित मस्जिदों में सेवा करने वालों पर लागू होगी। अब इमामों और मुअज्जिनों को बढ़ी हुई सैलरी मिलेगी.

रमजान में तोहफे देने का मकसद खास होता है

संयुक्त अरब अमीरात के क्राउन प्रिंस ने ये कदम यूं ही नहीं उठाया है, बल्कि इसके पीछे एक बेहद खास मकसद है. खलीज टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, क्राउन प्रिंस ने मानवता और मुस्लिम समुदाय के प्रति इमामों और मुअज्जिनों की सेवा और समर्पण की मानवीय भावना का सम्मान करने के लिए यह कदम उठाया है।
आपको बता दें कि इस्लाम में इमामों का एक विशेष स्थान है, जो मुस्लिम समुदाय को इस्लामिक रीति-रिवाजों के अनुसार धार्मिक मान्यताओं का पालन करने के निर्देश देते हैं। जबकि मुअज्जिन वो अधिकारी होते हैं जो अजान के जरिए नमाज पढ़ने का ऐलान करते हैं.

क्राउन प्रिंस अपनी दरियादिली के लिए चर्चा में रहते हैं

आपको बता दें कि दुबई के क्राउन प्रिंस आमतौर पर अपनी दरियादिली के लिए सोशल मीडिया पर मशहूर रहते हैं। 2021 में उनका दोस्त एक हादसे के दौरान नदी में गिर गया था, जिसके बाद उसे डूबने से बचाने के लिए वह खुद पानी में कूद गए थे. इसके अलावा वह बेहद लग्जरी लाइफ भी जीते हैं। उनकी कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी हैं, जिनकी चर्चा पूरी दुनिया में है। इस समय रमज़ान का महीना चल रहा है। इस बीच उन्होंने इमामों और मुअज्जिनों के भत्ते बढ़ाकर एक बार फिर यह दरियादिली दिखाई है.

शेख हमदान संयुक्त अरब अमीरात के पूर्व प्रधान मंत्री महामहिम शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम के दूसरे बेटे हैं। वह 2006 से 2008 तक दुबई के उप शासक रहे हैं और 2008 से वह दुबई के राजकुमार हैं।

ये भी पढ़ें :रूस आतंकी हमला: मॉस्को के कॉन्सर्ट हॉल हमले में 133 लोगों की जान गई, 140 से ज्यादा घायल, राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन बोले- छोड़ेंगे नहीं. 10 बड़ी बातें