नरेंद्र मोदी शपथ समारोह सतीश चंद्र दुबे राज भूषण चौधरी को नरेंद्र मोदी कैबिनेट में मिली जगह नरेंद्र मोदी कैबिनेट में बिहार से 8 मंत्री हैं, लेकिन ये दो खास नाम चौंकाने वाले हैं, जानें पीएम मोदी ने क्यों किया इन पर भरोसा

हाइलाइट

नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में बिहार से आठ मंत्री बनाए जा रहे हैं। इनमें दो नाम चौंकाने वाले हैं, इनमें बड़ा संदेश छिपा है।

पटना. नरेंद्र मोदी तीसरी बार एनडीए के प्रधानमंत्री पद की शपथ ले रहे हैं. सबकी निगाहें इस बात पर टिकी थीं कि मोदी कैबिनेट में बिहार से किन चेहरों को मौका मिलेगा. आखिरकार पीएम मोदी की चाय पार्टी के साथ ही इस बात से पर्दा उठ गया है कि बिहार से किन आठ लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी कैबिनेट में जगह देने जा रहे हैं. इन आठ में दो नाम ऐसे हैं जो थोड़े चौंकाने वाले हैं क्योंकि इन्हें लेकर किसी तरह की कोई अटकलें नहीं लगाई जा रही थीं. अब जब नाम सामने आ गए हैं तो कहा जा रहा है कि आगामी बिहार विधानसभा चुनाव 2025 के मद्देनजर जातीय समीकरणों के लिहाज से ये दोनों चेहरे काफी अहम हैं.

दरअसल, मोदी कैबिनेट में बीजेपी के राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र दुबे को मौका मिला है, जो उत्तर बिहार के कद्दावर ब्राह्मण नेता माने जाते हैं. सतीश चंद दुबे फिलहाल राज्यसभा सांसद हैं. सतीश चंद्र दुबे 2014 से 2019 तक वाल्मीकि नगर लोकसभा क्षेत्र से लोकसभा सांसद रह चुके हैं. 2019 में उनका टिकट कटने के बाद बीजेपी आलाकमान ने उन्हें राज्यसभा भेज दिया. सांसद बनने से पहले सतीश चंद दुबे चनपटिया और नरकटियागंज से विधायक भी रह चुके हैं.

भाजपा के राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र दुबे को मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिली है।

एक और नाम जिसने सबको चौंकाया है वो है डॉ राज भूषण चौधरी निषाद, जो मोदी कैबिनेट में शामिल होने जा रहे हैं और मुजफ्फरपुर से पहली बार सांसद बने हैं. वो अति पिछड़े समाज की निषाद जाति से आते हैं. राज भूषण चौधरी कुछ महीने पहले ही वीआईपी पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे और भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें टिकट दिया है. लोकसभा चुनाव में मिली शानदार जीत का इनाम उन्हें मिला है. उन्हें कैबिनेट में शामिल किया जाना निषाद राजनीति करने वाले मुकेश सहनी के लिए झटका माना जा रहा है.

राज भूषण चौधरी निषाद मूल रूप से पेशे से डॉक्टर हैं। साथ ही राज भूषण निषाद मुजफ्फरपुर के सकरा के पिलखी से ताल्लुक रखते हैं। डॉक्टरी पेशे के अलावा वे लंबे समय से निषाद विकास संघ से भी जुड़े रहे हैं। उनके राजनीतिक करियर की बात करें तो 2017 में वे मुकेश सहनी के संपर्क में आए और राजनीति में आगे बढ़े। 2019 में उन्होंने मुजफ्फरपुर से वीआईपी के टिकट पर अजय निषाद के खिलाफ चुनाव लड़ा, लेकिन 4 लाख से ज्यादा वोटों से हार गए।

मुजफ्फरपुर से भाजपा के टिकट पर जीते राज भूषण चौधरी निषाद मोदी मंत्रिमंडल में शामिल हो रहे हैं।

राजभूषण चौधरी निषाद के बारे में दिलचस्प बात यह है कि 2022 के बोचहां उपचुनाव के दौरान अजय निषाद ने ही राजभूषण निषाद को बीजेपी में शामिल करवाया था. 2024 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने अजय निषाद को हराकर राजनीति में आगे बढ़े और आज मोदी कैबिनेट में जगह मिलते ही एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं.

टैग: बिहार समाचार, मोदी कैबिनेट, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी