न घर, न कार, न जमीन, जानें पीएम नरेंद्र मोदी की संपत्ति और संपत्ति के हलफनामे के जरिए वाराणसी लोकसभा चुनाव 2024

पीएम नरेंद्र मोदी की संपत्ति: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज यानी 14 मई को तीसरी बार वाराणसी से लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल किया. इस दौरान भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता के साथ एनडीए गठबंधन के कई दिग्गज नजर आए. इस दौरान पीएम मोदी द्वारा चुनाव आयोग को दिए गए हलफनामे की जांच के बाद पता चला कि प्रधानमंत्री के पास कुल कितनी संपत्ति है.

सबसे पहले कैश की बात करें तो पीएम मोदी के पास 52 हजार रुपये कैश हैं. इसके बाद स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में उनके दो खाते हैं. इनमें से एक खाता गुजरात के गांधीनगर में है और दूसरा खाता वाराणसी की शिवाजी नगर शाखा में है. पीएम मोदी के गुजरात बैंक खाते में 73 हजार 304 रुपये और वाराणसी के खाते में सिर्फ सात हजार रुपये हैं. पीएम मोदी के पास एसबीआई में ही 2 करोड़ 85 लाख 60 हजार 338 रुपये की एफडी भी है.

पीएम मोदी के पास कुल कितनी संपत्ति है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट में 9 लाख 12 हजार रुपये का निवेश किया है. इसके अलावा चल संपत्ति में उनके पास चार सोने की अंगूठियां हैं, जिनका कुल वजन 45 ग्राम और कीमत 2 लाख 67 हजार 750 रुपये है. प्रधानमंत्री मोदी के हलफनामे के मुताबिक, उनके पास न तो कोई घर है और न ही कोई जमीन. ऐसे में उनकी कुल संपत्ति 3 करोड़ 2 लाख 6 हजार 889 रुपये है.

पीएम मोदी ने कहां की पढ़ाई?

चुनावी हलफनामे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी शैक्षणिक योग्यता के बारे में भी जानकारी दी है. इसके मुताबिक, पीएम मोदी ने 1967 में गुजरात बोर्ड से अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की। इसके बाद उन्होंने 1978 में दिल्ली यूनिवर्सिटी से बैचलर्स ऑफ आर्ट्स किया। पीएम मोदी ने 1983 में गुजरात यूनिवर्सिटी से मास्टर्स ऑफ आर्ट्स किया।

पीएम मोदी ने आज ही वाराणसी से नामांकन दाखिल किया

इस बार भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश के वाराणसी को चुना है. वह 2014 में पहली बार वाराणसी से सांसद चुने गए और फिर देश के प्रधानमंत्री बने। 2019 में भी उन्होंने वाराणसी सीट से चुनाव लड़ा और 2024 के चुनावी रण में भी वह वाराणसी से ही उम्मीदवार हैं. मंगलवार को जब उन्होंने वाराणसी से अपना नामांकन दाखिल किया तो उनके साथ एनडीए गठबंधन में शामिल कई दलों के दिग्गज और कई राज्यों के मुख्यमंत्री भी आए.

यह भी पढ़ें: ‘पीएम मोदी को चौथे चरण में ही मिल गया बहुमत’, अमित शाह ने किया बड़ा दावा