पश्चिम अफ्रीकी देश गिनी में ईंधन डिपो में भीषण विस्फोट, 13 की मौत, 178 घायल

कोनाक्री (गिनी): गिनी की राजधानी कोनाक्री में देश के मुख्य ईंधन डिपो में हुए भीषण विस्फोट में कम से कम 13 लोग मारे गए और 178 घायल हो गए। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। पश्चिम अफ्रीकी देश गिनी के राष्ट्रपति ने बताया कि रविवार आधी रात को ‘गिनी पेट्रोलियम कंपनी’ के डिपो में जोरदार विस्फोट के कारण आग लग गई, जिससे कलौम प्रशासनिक जिले में काफी नुकसान हुआ.

सरकार ने एक बयान में कहा कि 178 घायलों में से कम से कम 89 का इलाज कर दिया गया है और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. बयान के मुताबिक, हादसे में मारे गए 13 लोगों में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं.

डिपो शिफ्ट करने की प्रक्रिया शुरू
अधिकारियों ने कहा कि विस्फोट के कारण की जांच शुरू हो गई है और ऐसी दुर्घटना से बचने के लिए डिपो को किसी दूरस्थ स्थान पर स्थानांतरित करने की प्रक्रिया चल रही है। सरकार ने एक बयान में कहा कि अधिकारी “राजधानी से देश के अन्य हिस्सों में आपूर्ति में संभावित व्यवधान को रोकने के लिए महत्वपूर्ण ईंधन जरूरतों की पहचान कर रहे थे।”

ये भी पढ़ें- समलैंगिक जोड़ों को मिली चर्च में एंट्री, पुजारी दे सकेंगे आशीर्वाद…पोप फ्रांसिस का ऐतिहासिक फैसला

जब विस्फोट हुआ तो जहाज सामान उतार रहा था
कॉनक्री स्थित गिनी मैटिन समाचार वेबसाइट ने एक डिपो कर्मचारी के हवाले से कहा कि विस्फोट तब हुआ जब एक जहाज माल उतार रहा था। अहमद कोंडे नाम के एक कर्मचारी ने कहा, ”इस आग में मैंने अपने कई दोस्तों को खो दिया. मेरे जैसे कुछ गार्ड हैं, कुछ तकनीशियन हैं। सभी कार्यालय और उनके अंदर रखा सामान भी नष्ट हो गया।”

रक्षा मंत्री ने क्या कहा?
रक्षा मंत्री बाचिर डायलो ने कहा कि आग पर काबू पा लिया गया है और सेनेगल और माली सहित कुछ देश चिकित्सा और सुरक्षा दल भेज रहे हैं। अधिकारियों ने कहा कि राजधानी में स्कूल और सार्वजनिक स्थान बंद कर दिए गए हैं और आवश्यक सेवाओं को छोड़कर जिले में प्रवेश बंद कर दिया गया है। राष्ट्रपति ने लोगों से घर पर रहने की अपील की है. राष्ट्रपति कर्नल ममादी डौंबौया ने कहा, “मैं गिनी के लोगों से इस कठिन समय के दौरान राष्ट्र के लिए एकजुटता दिखाने और प्रार्थना करने का आह्वान करता हूं।”

टैग: विस्फोट, आग, पापुआ न्यू गिनी