पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट पर हमलावरों ने अचानक बरसानी शुरू कर दीं गोलियां, जवाबी हमले में ढेर

ग्वादर बंदरगाह पर हमला: बुधवार (20 मार्च) को अचानक अज्ञात हमलावरों ने पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट अथॉरिटी कॉम्प्लेक्स पर गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। सुरक्षा बलों ने हमलावरों की गोलीबारी का पूरी दृढ़ता से जवाब दिया. इस जवाबी हमले में सुरक्षा बलों द्वारा सभी हमलावरों के मारे जाने की खबर है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के हवाले से बताया गया है कि ग्वादर पोर्ट पर हमला करने वालों की संख्या 8 थी. जवाबी कार्रवाई के दौरान ये सभी हमलावर मारे गए.

ग्वादर पोर्ट अथॉरिटी (जीपीए) संवेदनशील सरकारी प्रतिष्ठानों की मेजबानी करता है, जिसमें ग्वादर पोर्ट भी शामिल है जहां चीनी इंजीनियर पाकिस्तान के तीसरे सबसे बड़े बंदरगाह के निर्माण के लिए काम कर रहे हैं।

स्थानीय लोगों ने काफी देर तक फायरिंग की आवाजें सुनीं

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ग्वादर में स्थानीय लोगों का कहना है कि स्थानीय समयानुसार दोपहर करीब 3:55 बजे दो धमाकों के बाद भारी गोलीबारी शुरू हो गई. इलाके में काफी देर तक फायरिंग की आवाज सुनाई देती रही.

ग्वादर बंदरगाह, चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे में से एक

इस बीच, ग्वादर बंदरगाह अरबों डॉलर के चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) के केंद्र बिंदुओं में से एक है, जिसमें कई चीनी कर्मचारी बंदरगाह पर काम कर रहे हैं। चीन CPEC के तहत बलूचिस्तान में भारी निवेश कर रहा है.

पिछले साल भी चीनी इंजीनियरों के काफिले पर हमला हुआ था

पिछले साल अगस्त महीने में भी पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत के बंदरगाह शहर ग्वादर में चीनी इंजीनियरों को ले जा रहे एक काफिले पर आतंकवादियों ने हमला कर दिया था. जवाबी कार्रवाई में सुरक्षा बलों ने दो आतंकियों को मार गिराया. इस काफिले में 3 एसयूवी और एक वैन शामिल थी. सभी बुलेटप्रूफ़ थे. इनके जरिए ही सभी 23 चीनी कर्मियों को लाने-ले जाने का काम किया जा रहा था. हमले के दौरान एक IED में विस्फोट हो गया. साथ ही वैन पर भी गोलियां चलाई गईं.

यह भी पढ़ें: अनम शेख Video: ‘जब मुसलमान ही मुसलमानों को मार रहे हैं तो हम काफिरों से क्या पूछेंगे’, अफगानिस्तान-पाकिस्तान तनाव पर वीडियो वायरल