पाकिस्तान में आत्मघाती हमला, 5 चीनी नागरिकों की हत्या से घबराए शाहबाज शरीफ, चीनी राजदूत से की मुलाकात

पाकिस्तान में आत्मघाती हमला: पाकिस्तान में चीनी इंजीनियरों की मौत शाहबाज शरीफ के लिए मुसीबत बन गई है. शाहबाज इतना डर ​​गया था कि घटना के तुरंत बाद वह खुद इस्लामाबाद स्थित चीनी दूतावास पहुंच गया। इस दौरान शाहबाज शरीफ ने कहा कि यह हमला चीनी नागरिकों पर नहीं बल्कि पाकिस्तान पर है. चीनी राजदूत को मनाने शाहबाज समेत पूरी कैबिनेट पहुंची थी. पाकिस्तान को डर है कि इस घटना के बाद ड्रैगन नाराज हो सकता है.

दरअसल, 26 मार्च को इस्लामाबाद से दासू जाते समय चीनी इंजीनियरों के काफिले पर एक आत्मघाती हमलावर ने हमला कर दिया था. इस हमले में 5 चीनी इंजीनियर और एक पाकिस्तानी ड्राइवर की मौत हो गई. यह हमला उत्तर-पश्चिम पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बेशाम शहर के पास हुआ. हादसे के बाद कार खाई में जा गिरी और उसमें आग लग गई. बताया जा रहा है कि आत्मघाती हमलावर ने आत्मघाती हमले के लिए विस्फोटकों से भरी गाड़ी का इस्तेमाल किया था. इस गाड़ी को एक चीनी काफिले ने टक्कर मार दी थी, जिसमें सभी चीनी इंजीनियरों की मौत हो गई थी.

प्रधानमंत्री से पहले गृह मंत्री चीनी दूतावास पहुंचे
पाकिस्तान चीन के साथ अपनी दोस्ती को हिमालय से भी ऊंची और समुद्र से भी गहरी बताता है। पाकिस्तान चीन को अपना आयरन ब्रदर कहता है, लेकिन इस घटना के बाद जो खुलासा हुआ वह चौंकाने वाला था। घटना के कुछ ही घंटों के भीतर पाकिस्तान के गृह मंत्री मोहसिन नकवी चीनी दूतावास पहुंचे. इसके बाद खुद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ भी चीनी दूतावास पहुंचे. इससे साफ हो जाता है कि पाकिस्तान कूटनीतिक संबंधों को लेकर कितना इच्छुक है. आमतौर पर ऐसी घटनाओं के बाद कोई मंत्री दूतावास जाता है या राजदूत को प्रधानमंत्री आवास पर बुलाया जाता है, लेकिन शाहबाज़ का डर उन्हें चीनी दूतावास ले गया.

शाहबाज के चेहरे पर दिख रही परेशानी
पाकिस्तान में पहले भी चीनी नागरिकों को निशाना बनाया गया है. इससे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री काफी डरे हुए हैं. चीनी दूतावास का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें साफ दिख रहा है कि शाहबाज शरीफ कितनी मुसीबत में हैं। उनके बात करने के तरीके से भी साफ पता चलता है कि पाकिस्तान चीन के सामने कितना झुक गया है। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी.

चीन पाकिस्तान में बांध बना रहा है
बताया जा रहा है कि चीन पाकिस्तान के दासू इलाके में हाइड्रो इलेक्ट्रिक बांध बना रहा है. इसी को लेकर चीनी इंजीनियर इस्लामाबाद से दासू जा रहे थे. घटना के बाद सामने आए वीडियो में एक जली हुई कार नजर आ रही है. अभी तक किसी भी आतंकी संगठन ने इस आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है. साल 2021 में भी पाकिस्तान में एक बस में हुए बम धमाके में 9 चीनी नागरिकों समेत 13 लोगों की मौत हो गई थी.

यह भी पढ़ें: चीन और भारतीय सेना: क्या भारत चीन से ज्यादा ताकतवर है, जानिए यहां