पीएम मोदी ने जयापुर गांव को गोद लिया, खूब विकास हुआ, लोग बेहद खुश हैं

नई दिल्ली: 2014 में केंद्र की सत्ता में आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी बीजेपी सांसदों से अपने-अपने क्षेत्र में एक-एक गांव गोद लेने की अपील की थी, जिसे सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत विकसित किया जा सके. इस अभियान में पीएम मोदी ने खुद सेवापुरी विधानसभा क्षेत्र के जयापुर गांव को गोद लिया. जयापुर को अब आदर्श गांव में शामिल कर लिया गया है. पीएम मोदी के गोद लेने के बाद जयापुर गांव में कितना विकास और बदलाव आया है, इसका सबूत खुद गांव के लोगों ने दिया है. ग्रामीणों के मुताबिक 10 साल में जयापुर का पूरा नक्शा बदल गया है. जयापुर में तेजी से हो रहे विकास कार्यों से ग्रामीण खुश हैं।

इस बीच आईएएनएस से खास बातचीत में संदीप कुमार ने कहा कि पीएम मोदी द्वारा जयापुर गांव को गोद लेने के बाद काफी विकास हुआ है. पहले यहां बैंक और सड़कें नहीं थीं, अब गांव में पक्की सड़कें बन गई हैं और बैंक भी खुल गए हैं. गांव में जल निगम बनने के बाद घर-घर में पाइप लाइन से पानी की सुविधा भी मिलने लगी। गांव में बिजली भी उपलब्ध है. इसके साथ ही उज्ज्वला योजना के तहत लाभार्थियों को गैस कनेक्शन भी मिल गया है। साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी सभी लोगों को भी आवास मिल गया है। गांव का लगातार विकास हो रहा है. पीएम मोदी की वजह से इस विकास को और गति मिली है और गांव में अभी और विकास होना बाकी है.

पढ़ें- आम आदमी से जुड़ी मोदी सरकार की 5 बड़ी योजनाएं, गरीबों के लिए वरदान

लोगों ने खुद ही खुशियां बांटीं
गाँव के एक अन्य ग्रामीण अरुण कुमार ने कहा, “जयापुर गाँव में बहुत विकास हुआ है, दो बैंकों की शाखाएँ हैं, डाकघर खुल गया है। सड़कें बनाई गईं, पानी की व्यवस्था की गई, सोलर प्लांट लगाए गए। पीएम मोदी को बहुत-बहुत धन्यवाद कि उन्होंने गांव में इतना विकास किया है.” इसके साथ ही मुकेश पटेल ने कहा कि जब से पीएम मोदी ने इस गांव को गोद लिया है, तब से यहां दो बैंक, एटीएम, पोस्ट ऑफिस, गांव में सड़क, हर घर में पानी और बिजली की सुविधा है. उज्ज्वला योजना के तहत गैस की सुविधा मिली है. जो लोग आयुष्मान कार्ड पाने के पात्र हैं उन्हें भी यह कार्ड मिला है।

मनोज कुमार ने कहा, ”गांव का काफी विकास हुआ है. हमें आवास, शौचालय, गैस कनेक्शन, पानी की सुविधा और बिजली मिली है। गांव में सड़क भी मिल गयी है. गांव में एक बैंक भी है. गांव का विकास हुआ है. नरेंद्र मोदी फिर से पीएम बनेंगे।” वहीं, एक अन्य ग्रामीण लालधर ने बताया कि यहां सबसे पहले सोलर लाइट आई, गांव में बिजली आई, सड़क बनी, ग्रामीणों को आवास, शौचालय और गैस कनेक्शन भी मिला.

रोजगार का अवसर मिला
इसके साथ ही गांव की महिला धर्मशीला ने कहा, ”पीएम मोदी के जयापुर गांव को गोद लेने के बाद हमें रोजगार का अवसर मिला है, जिसके बाद हम अपने परिवार का भरण-पोषण अच्छे से कर पा रहे हैं.” उन्होंने कहा, ”गांव में पानी, शौचालय और बिजली की सुविधा है. इसके अलावा गांव में बैंक भी खुले हैं. सरकार की ओर से हमें मुफ्त राशन भी मिल रहा है. हम चाहते हैं कि पीएम मोदी तीसरी बार सत्ता में आएं, ताकि हमारे गांव का और अधिक विकास हो सके।

वहीं, उषा पांडे ने कहा कि पीएम मोदी के इस गांव को गोद लेने के बाद हमें रोजगार मिला है. पीएम मोदी ने गांव का तेजी से विकास किया है. कई घरों में शौचालय बनवाए गए। गांव में बैंक और पानी जैसी अच्छी सुविधाएं हैं.

इसी गांव की मीना देवी ने कहा, ”पहले हमें कुएं से पानी लाना पड़ता था. अब घर में पानी उपलब्ध है. गांव में दो बैंक भी खोले गये. इसके साथ ही गांव में सौर ऊर्जा और कंक्रीट की सड़कें भी बनाई गई हैं. हम गांव के विकास के लिए पीएम मोदी का आभार व्यक्त करते हैं।

पीएम मोदी ने सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिया था
आपको बता दें कि सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत पीएम मोदी द्वारा गोद लिए गए इस जयापुर गांव की आबादी करीब 3,100 है. इस गांव में कुल 2700 मतदाता हैं. वाराणसी रेलवे स्टेशन से लगभग 25 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम में स्थित इस गांव में 2014 के बाद से तेजी से हुआ विकास इस बात का प्रमाण है कि इस गांव को सांसद आदर्श ग्राम योजना का पूरा लाभ मिला है। यह गांव सेवापुरी विधानसभा क्षेत्र और अराजीलाइन ब्लॉक में पड़ता है।

टैग: मोदी सरकार, पीएम मोदी