पुतिन की सेना के सामने बेदम है अमेरिकी मदद, डरे ज़ेलेंस्की ने चीन से लगाई गुहार

कीव. यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने कहा कि वह चीन जैसे रूस पर प्रभाव रखने वाले देशों के साथ काम करना चाहते हैं। इस वक्त उनका देश मॉस्को के ताजा हमले का सामना कर रहा है। उन्होंने बीजिंग से अगले महीने शांति वार्ता में भाग लेने की अपील की है. ज़ेलेंस्की ने कहा कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने उन्हें फोन पर आश्वासन दिया कि बीजिंग यूक्रेन की क्षेत्रीय अखंडता का समर्थन करता है। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि यह फोन पर बातचीत कब हुई थी. ज़ेलेंस्की का बयान शुक्रवार को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की दो दिवसीय चीन यात्रा के तुरंत बाद आया। जिस दौरान दोनों देशों ने गहरे रणनीतिक सहयोग का वादा किया था.

हालाँकि, चीन ने कभी भी फरवरी 2022 में यूक्रेन पर रूस के हमले की निंदा नहीं की है। बल्कि चीन ने इस संघर्ष में तटस्थता का दावा किया है. इसने 12 सूत्रीय स्थिति जारी की है, जिसका स्वरूप काफी हद तक अस्पष्ट है। अगले महीने स्विट्जरलैंड में होने वाली शांति वार्ता से पहले शी जिनपिंग ने दोनों पक्षों की स्थिति को ध्यान में रखते हुए बातचीत की अपील की है। ज़ेलेंस्की ने कहा कि चीन जैसे वैश्विक खिलाड़ियों को शामिल करना महत्वपूर्ण है क्योंकि उनका रूस पर प्रभाव है, और जितने अधिक ऐसे देश हमारी तरफ होंगे… उतना ही अधिक रूस को आगे आना होगा।

यूक्रेनी राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने कहा कि क्षेत्रीय अखंडता के बारे में शी जिनपिंग ने उन्हें फोन पर जो आश्वासन दिया था, उसे ध्यान में रखते हुए उन्होंने कहा कि ‘वे समर्थन करते हैं, लेकिन वे क्या करेंगे, यह हमें अभी देखना बाकी है।’ हालाँकि, ज़ेलेंस्की और चीनी नेता के बीच एकमात्र ज्ञात फोन कॉल पिछले साल अप्रैल में हुई थी। ज़ेलेंस्की ने कहा कि वह अगले महीने स्विट्जरलैंड में अंतरराष्ट्रीय वार्ता में चीन को देखना चाहेंगे जिसका उद्देश्य यूक्रेन में शांति प्रक्रिया का मार्ग प्रशस्त करना है।

‘भारत दुनिया का मित्र है…’ यूक्रेन में शांति के लिए पीएम मोदी से किसने मांगी मदद, कही ये बड़ी बात

वहीं, यूक्रेनी अधिकारियों का कहना है कि रूसी सेना सीमावर्ती शहर के कैदियों को ‘मानव ढाल’ के रूप में इस्तेमाल कर रही है। यूक्रेन के एक अधिकारी ने कहा है कि रूसी सेना ने सीमावर्ती शहर वोवचांस्क में दर्जनों नागरिकों को पकड़ लिया है। इलाके के एक शीर्ष पुलिस अधिकारी ने रूस पर कैदियों को ‘मानव ढाल’ के रूप में इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है. गौरतलब है कि मॉस्को ने उत्तरी यूक्रेन में फिर से अपना हमला तेज कर दिया है. पिछले सप्ताह इसने युद्ध के दो वर्षों में अपना सबसे आश्चर्यजनक अभियान शुरू किया। रूस ने यूक्रेन के दूसरे सबसे अधिक आबादी वाले शहर खार्किव पर कब्ज़ा करने के नए प्रयासों में उत्तरी सीमा पार कर ली।

टैग: चीन, रूस यूक्रेन युद्ध, यूक्रेन युद्ध, व्लादिमीर पुतिन