फ्रांस में ‘गर्भपात’ होगा महिलाओं का संवैधानिक अधिकार, संसद में बिल को मंजूरी; ऐसा करने वाला दुनिया का पहला देश

छवि स्रोत: PEXELS
फ्रांस में महिलाओं के लिए गर्भपात संवैधानिक अधिकार होगा.

पेरिस: फ्रांस की संसद ने एक बड़े विधेयक को मंजूरी दे दी है. फ्रांसीसी संसद ने गर्भपात के अधिकार को संविधान में शामिल करने के लिए सोमवार को मतदान किया। वोटिंग में इस बिल को मंजूरी भी मिल गई है. इस वोटिंग के पक्ष में 780 वोट पड़े, जबकि विरोध में सिर्फ 72 वोट पड़े. मतदान के बाद, फ्रांस अपने मूल कानून में गर्भावस्था की समाप्ति के लिए स्पष्ट सुरक्षा प्रदान करने वाला दुनिया का पहला देश बन गया। इस बिल को मंजूरी मिलने के बाद गर्भपात महिलाओं का संवैधानिक अधिकार बन जाएगा.

बिल के पक्ष में 780 वोट मिले.

यहां के सांसदों ने सोमवार को संसद के संयुक्त सत्र के दौरान देश में गर्भपात को महिलाओं का संवैधानिक अधिकार बनाने वाले विधेयक को मंजूरी दे दी। इस बिल पर वोटिंग हुई. वोटिंग की बात करें तो बिल के पक्ष में 780 वोट पड़े जबकि विरोध में 72 वोट पड़े. इस बिल को मंजूरी मिलने पर महिला अधिकार कार्यकर्ताओं ने खुशी जताई और इस कदम की सराहना की. आपको बता दें कि संसद के दोनों सदनों, नेशनल असेंबली और सीनेट ने पहले ही फ्रांसीसी संविधान के अनुच्छेद 34 में संशोधन के लिए एक विधेयक को मंजूरी दे दी है, ताकि महिलाओं को गर्भपात के अधिकार की गारंटी दी जा सके।

भारत और फ्रांस के बीच बातचीत

इसके अलावा भारत और फ्रांस ने सोमवार को परमाणु, रासायनिक और जैविक क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देने के तरीकों पर चर्चा की। राष्ट्रीय राजधानी में यह चर्चा निरस्त्रीकरण और अप्रसार पर भारत-फ्रांस द्विपक्षीय वार्ता के ढांचे के तहत हुई। विदेश मंत्रालय ने कहा कि “दोनों पक्षों ने परमाणु, रासायनिक और जैविक क्षेत्रों के साथ-साथ बाहरी सुरक्षा से संबंधित निरस्त्रीकरण और अप्रसार के क्षेत्र में विकास पर चर्चा की।” और बहुपक्षीय निर्यात नियंत्रण व्यवस्था से संबंधित मुद्दों पर भी चर्चा की।

(इनपुट भाषा)

ये भी पढ़ें-

राष्ट्रपति चुनाव के लिए ट्रंप का रास्ता साफ, सुप्रीम कोर्ट ने हटाया प्रतिबंध

कौन बनेगा पाकिस्तान सीनेट का अध्यक्ष, जानें किसके नाम पर लगी मुहर! पूर्व पीएम रह चुके हैं

नवीनतम विश्व समाचार