बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने खालिद जिया के बेटे को विदेश से लाकर सजा दिलाने की कसम खाई, जानें पूरा मामला

छवि स्रोत : REUTERS
शेख हसीना, बांग्लादेश की प्रधान मंत्री।

ढाका: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने अपनी कट्टर प्रतिद्वंद्वी खालिदा जिया के बेटे तारिक रहमान को लंदन से वापस लाने और उसके खिलाफ अदालत के फैसले को लागू कराने के लिए अपनी सरकार की प्रतिबद्धता दोहराई है। उन्होंने कहा कि वह उसे जरूर वापस लाएगी और सजा दिलवाएगी। इसके लिए ब्रिटेन से प्रत्यर्पण पर बातचीत भी चल रही है। बता दें कि 2018 में अपनी मां खालिदा जिया के जेल जाने के बाद बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) के अध्यक्ष पद की कमान संभालने वाले रहमान छह साल पहले सजा सुनाए जाने के बाद से लंदन में रह रहे हैं।

यह सजा रहमान की अनुपस्थिति में सुनाई गई। बांग्लादेश की एक अदालत ने फैसला सुनाया है कि रहमान ने हसीना की मौजूदगी वाली चुनावी रैली पर जानलेवा ग्रेनेड हमला करने की साजिश रची थी। इस मामले में दोषी ठहराए गए रहमान को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है। हालांकि, 56 वर्षीय रहमान का कहना है कि उन पर लगाए गए आरोप “राजनीतिक बदले” के कारण लगाए गए हैं। प्रधानमंत्री हसीना ने रविवार को कहा, “लोगों पर हमला करने और उन्हें जलाने वालों को बख्शा नहीं जाना चाहिए।”

हसीना बोली- मैं तुम्हें नहीं छोडूंगी

वे जो भी करेंगे, हम उन्हें नहीं छोड़ेंगे, यह स्पष्ट है। लोगों को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ हमारी कार्रवाई जारी रहेगी।” उन्होंने कहा, ”अब एकमात्र काम अपराधी (तारिक रहमान) को वापस लाना है। अपराधी जहां कहीं भी होगा, उसे वहीं से लाया जाएगा और उसे अपनी सजा काटनी होगी।” हसीना ने कहा, ”हमने पहले ही ब्रिटिश सरकार से चर्चा की है ताकि वे भगोड़े अपराधी को उसकी सजा तामील कराने के लिए हमारे पास वापस भेज दें।” (भाषा)

यह भी पढ़ें

पाकिस्तान के स्कूल में आग लगने से 1400 छात्राओं की जान खतरे में, कड़ी मशक्कत के बाद ही संभव हो सका रेस्क्यू



पहली बार पाकिस्तान सरकार ने पूर्व पीएम इमरान खान को दिया बड़ा ऑफर, बातचीत के लिए PTI को बुलाया

नवीनतम विश्व समाचार