बुल्गारिया के राष्ट्रपति रुमेन राडेव ने भारतीय नौसेना के सफल ऑपरेशन एमवी रुएन अरब सागर के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद दिया

भारतीय नौसेना की सोमाली समुद्री लुटेरों पर कार्रवाई: बुल्गारिया के राष्ट्रपति रूमेन राडेव ने हिंद महासागर में भारतीय नौसेना की कार्रवाई के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया है. दरअसल, भारतीय नौसेना ने रविवार को अपहृत एमवी रूएन जहाज को समुद्री लुटेरों से मुक्त करा लिया था. इस ऑपरेशन के दौरान नौसेना ने 35 समुद्री लुटेरों को गिरफ्तार किया और एमवी रूएन जहाज के चालक दल के सदस्यों सहित 17 लोगों को रिहा कर दिया। इसमें 7 बुल्गारियाई नागरिक भी थे.

रुमेन राडेव ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लिखा


ऑपरेशन 40 घंटे तक चला

भारतीय नौसेना समुद्री लुटेरों के खिलाफ लगातार ऑपरेशन चला रही है. ऐसे ही एक ऑपरेशन में भारतीय तट से करीब 2600 किमी पूर्व में नौसेना ने माल्टा के एमवी रुएन जहाज को समुद्री लुटेरों के कब्जे से बचाया था. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, पिछले सात साल में पहली बार किसी जहाज को सोमालिया के समुद्री लुटेरों से बचाया गया. इस तरह से इसे बचाने का यह पहला सफल ऑपरेशन है.

करीब 40 घंटे तक चले इस ऑपरेशन के दौरान नौसेना ने आईएनएस कोलकाता, आईएनएस सुभद्रा और सी गार्जियन ड्रोन तैनात किए। इसके बाद सी-17 विमान से स्पेशल मार्कोस कमांडो को उतारा गया. इन कमांडो ने न सिर्फ जहाज को छुड़ाया बल्कि 35 समुद्री लुटेरों को भी पकड़ लिया.

बुल्गारिया के विदेश मंत्री ने भी धन्यवाद दिया

बुल्गारिया की विदेश मंत्री मारिया गेब्रियल ने अपहृत जहाज और उनके देश के सात नागरिकों सहित चालक दल के सदस्यों को बचाने के सफल अभियान के लिए भारतीय नौसेना का आभार व्यक्त किया। गैब्रियल की पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने लिखा, दोस्त इसी के लिए होते हैं।

नौसेना ने कहा कि एमवी रूएन को 14 दिसंबर को सोमालिया के समुद्री लुटेरों ने हाईजैक कर लिया था. इस जहाज पर करीब 37,800 टन सामान लदा है, जिसकी कीमत करीब 1 मिलियन अमेरिकी डॉलर है.