ब्रिटेन के प्रिंस हैरी ने जीता फोन हैकिंग केस, अब ‘डेली मिरर’ को चुकाने होंगे 1 लाख 78 हजार डॉलर

छवि स्रोत: एपी
ब्रिटेन के प्रिंस हैरी.

ब्रिटेन के राजा चार्ल्स तृतीय के छोटे बेटे प्रिंस हैरी ने एक बहुचर्चित केस जीत लिया है। इससे अखबार डेली मिरर को बड़ा झटका लगा है. कोर्ट ने डेली मिरर को भारी जुर्माना भरने का भी आदेश दिया है. ‘डेली मिरर’ के प्रकाशक के खिलाफ दायर फोन हैकिंग केस जीतने के बाद प्रिंस हैरी ने खुशी जताई है। कोर्ट ने अखबार को उन्हें मुआवजे के तौर पर 1,40,600 ब्रिटिश पाउंड (यानी करीब 1 लाख 78 हजार डॉलर) देने का आदेश दिया है.

अदालत के फैसले के बाद हैरी ने कहा कि यह “सच्चाई और जवाबदेही के लिए बड़ा दिन” है। ब्रिटेन के राजा चार्ल्स तृतीय के छोटे बेटे हैरी और उनकी पत्नी अमेरिकी अभिनेत्री मेघन मार्कल अमेरिका में रहते हैं। हैरी अपनी निजी जिंदगी से जुड़े कई मुद्दों को लेकर लगातार सुर्खियों में बने हुए हैं। हैरी (39) ने मुकदमे में मिरर ग्रुप न्यूजपेपर्स (एमजीएन) के तीन अखबारों ‘मिरर’, ‘संडे मिरर’ और ‘पीपल’ का नाम लिया था। उच्च न्यायालय के न्यायाधीश टिमोथी फैनकोर्ट ने पाया कि मिरर ग्रुप अखबारों के लिए फोन हैकिंग वर्षों से चल रही थी। उन्होंने कहा कि अखबार के अधिकारियों को इसकी जानकारी थी और उन्होंने इस पर पर्दा डाल दिया था.

फैनकोर्ट ने ये आदेश डेली मिरर को दिया

फैनकोर्ट ने पाया कि परीक्षण के दौरान उद्धृत 33 अखबारों के लेखों में से 15 गलत तरीके से संकलित जानकारी पर आधारित थे। मुकदमे में हैरी ने मुआवजे के तौर पर 4,40,000 पाउंड ($5,60,000) की मांग की थी. हैरी के वकील ने अदालत के बाहर एक बयान पढ़ते हुए कहा: “आज सच्चाई के साथ-साथ जवाबदेही के लिए भी एक महान दिन है। “अदालत ने फैसला सुनाया है कि मिरर ग्रुप के तीनों अखबारों में एक दशक से अधिक समय से अवैध और आपराधिक गतिविधियां आदतन और व्यापक आधार पर की जा रही थीं।” एमजीएन के प्रवक्ता ने फैसले के बाद एक बयान में कहा, ”हम आज के फैसले का स्वागत करते हैं। (भाषा)

ये भी पढ़ें

नवीनतम विश्व समाचार