भारतीय गठबंधन पर कांग्रेस नेता जयराम रमेश का बयान, कहा- तुरंत घोषणा नहीं की जानी चाहिए

भारत गठबंधन: पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने हाल ही में हुई इंडिया अलायंस की चौथी बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को इंडिया अलायंस की ओर से प्रधानमंत्री का चेहरा बनाने का प्रस्ताव रखा था. आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने इसका समर्थन किया था. कयास लगाए जा रहे हैं कि इसे लेकर गठबंधन के नेता नाराज हैं.

इस बीच एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया. पवार ने कहा कि पीएम चेहरे पर फैसला लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद ही लिया जाना चाहिए. वहीं, कांग्रेस ने भी इस मुद्दे पर अपनी चुप्पी तोड़ी है. पार्टी के मीडिया विभाग के प्रमुख और राज्यसभा सांसद जयराम रमेश ने पवार से सहमति जताई है.

‘चुनाव नतीजों का इंतजार करूंगा’
उन्होंने कहा, ”मैं भी उनसे (शरद पवार) सहमत हूं। कांग्रेस का हमेशा से मानना ​​रहा है कि पीएम पद के लिए चेहरे की घोषणा तुरंत नहीं की जानी चाहिए। भारत में राष्ट्रपति प्रणाली नहीं है। हम पहले चेहरा तय नहीं करेंगे।” चुनाव कराएं. नतीजों का इंतजार करेंगे.

न्यूज 18 की रिपोर्ट के मुताबिक, जयराम रमेश ने इस बहस में भाग लेने से इनकार कर दिया कि क्या कांग्रेस खड़गे को पीएम चेहरे के रूप में लेकर असहज थी और क्या कांग्रेस के सत्ता में आने पर राहुल गांधी को उम्मीदवार होना चाहिए.

नीतीश कुमार के नाराज होने की खबरें आ रही थीं.
मल्लिकार्जुन खड़गे को भारत गठबंधन के पीएम चेहरे के तौर पर पेश करने के ममता बनर्जी के प्रस्ताव के बाद राजद प्रमुख नीतीश कुमार की गठबंधन से नाराजगी की खबरें आ रही थीं. हालांकि बाद में उन्होंने साफ कर दिया कि उन्हें किसी पद की कोई चाहत नहीं है.

वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे ने भी इस संबंध में अपना रुख साफ कर दिया है. इस प्रस्ताव को खारिज करते हुए खड़गे ने कहा था कि हमें पहले चुनाव जीतने पर ध्यान देना चाहिए.

यह भी पढ़ें- क्या अयोध्या के राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल होंगी ममता बनर्जी? सूत्रों के हवाले से बड़ी खबर