भारत जोड़ो न्याय यात्रा जो कोई भी राहुल गांधी मोहब्बत की दुकान बस में चढ़ना चाहता है उसे टिकट की आवश्यकता हो सकती है

राहुल गांधी भारत जोड़ो न्याय यात्रा: कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ के लिए ‘मोहब्बत की दुकान’ बस में चढ़ने के लिए किसी को विशेष टिकट की आवश्यकता हो सकती है। टिकट पर यात्रा करते अवतार में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष की तस्वीर है।

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने टिकट के साथ एक तस्वीर खिंचवाई, जिसमें राहुल गांधी टी-शर्ट और ट्राउजर पहने हुए चलते हुए मुद्रा में नजर आ रहे हैं और इस पर उनके हस्ताक्षर भी हैं।

यह जानकारी कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने दी

टिकट के साथ पोज देते हुए जयराम रमेश ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर एक पोस्ट में कहा कि यह ‘मोहब्बत की दुकान’ बस का टिकट है। कांग्रेस नेता रमेश ने लिखा, पिछले 10 वर्षों के अन्याय के खिलाफ न्याय की इस यात्रा में जो लोग राहुल गांधी से मिलना और बात करना चाहते हैं, उन्हें ऐसे टिकट दिए गए हैं और बस में बुलाया गया है।

कहां तक ​​पहुंची यात्रा?

राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा रविवार (15 जनवरी) को मणिपुर के थौबल से शुरू हुई। यात्रा सोमवार (15 जनवरी) शाम को नागालैंड पहुंची। समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, राहुल गांधी पार्टी सहयोगियों के साथ मणिपुर की सीमा से लगे कोहिमा जिले के खुजामा गांव पहुंचे, जहां लोगों ने उनका स्वागत किया. राहुल गांधी रात्रि विश्राम के लिए गांव में ही रुके.

कांग्रेस की नागालैंड इकाई के कार्यकारी अध्यक्ष खीरी थेनुओ के अनुसार, राहुल गांधी नागा होहो सहित नागा आदिवासी संगठनों, नागरिक संस्थानों और चर्च निकायों के साथ उनके मुद्दों और समस्याओं पर बंद कमरे में बैठकें करेंगे। उन्होंने बताया कि राहुल गांधी की यह यात्रा 18 जनवरी को असम में प्रवेश करेगी. इससे पहले यात्रा नागालैंड के पांच जिलों कोहिमा, त्सेमिन्यु, वोखा, जुन्हेबोटो और मोकोकचुंग से होकर गुजरेगी.

यात्रा मंगलवार को विश्वेमा गांव-ख्रीडी थेनुओ से शुरू होगी

खिरदी थेनुओ ने कहा कि मंगलवार को राहुल गांधी विश्वेमा गांव से नागालैंड में अपनी यात्रा शुरू करेंगे और कोहिमा पहुंचकर द्वितीय विश्व युद्ध के कब्रिस्तान पर पुष्पांजलि अर्पित करेंगे. उन्होंने बताया कि अन्य जिलों में जाने से पहले वह हाई स्कूल जंक्शन में एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे.

कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ 15 राज्यों के 100 लोकसभा क्षेत्रों से होकर गुजरेगी. इस दौरान कुल 6,713 किलोमीटर की दूरी बस और पैदल तय की जाएगी और यह 20 या 21 मार्च को मुंबई में खत्म होगी.

(भाषा इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें- मणिपुर से नागालैंड पहुंची ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’, राहुल गांधी बोले- हमें आशा का दीपक जलाना है