मनोहर लाल का इस्तीफा, गठबंधन टूटा, क्या है हरियाणा में बीजेपी की ‘नई सरकार’ का पूरा समीकरण, जानें अंदर की कहानी.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मंत्रिमंडल समेत इस्तीफे के बाद हरियाणा की राजनीति में अचानक भूचाल आ गया है। बीजेपी ने जननायक जनता पार्टी-जेजेपी से गठबंधन तोड़कर नई सरकार बनाने का दावा किया है. हरियाणा को लेकर बीजेपी ने अभी तक अपने लोकसभा उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है. चर्चा है कि मनोहर लाल राज्य की राजनीति छोड़कर अब केंद्र में पैठ बनाएंगे। चर्चा यह भी है कि बीजेपी मनोहर लाल को करनाल लोकसभा से टिकट दे सकती है. इन अटकलों के बीच करनाल सीट चर्चा में आ गई है. हालांकि, यह भी दावा किया जा रहा है कि मनोहर लाल दोबारा मुख्यमंत्री बनेंगे. वैसे मुख्यमंत्री पद के लिए संजय भाटिया और नायाब सैनी का नाम भी उछल रहा है.

हरियाणा में 10 लोकसभा सीटें हैं और सभी पर बीजेपी का झंडा लहरा रहा है. इस बार लोकसभा चुनाव में बीजेपी और जेजेपी के बीच सीट बंटवारे को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था. जेजेपी भिवानी-महेंद्रगढ़ और हिसार लोकसभा सीट की मांग कर रही थी. लेकिन बीजेपी इनमें से सिर्फ एक सीट देने की बात कर रही थी. इस मुद्दे के चलते दोनों पार्टियों के बीच पिछले साढ़े चार साल से चला आ रहा गठबंधन टूट गया.

रणनीति का हिस्सा
हरियाणा में जाट राजनीति हमेशा से हावी रही है. बताया जा रहा है कि बीजेपी और जेजेपी के बीच गठबंधन तोड़ना भी रणनीति का हिस्सा हो सकता है. क्योंकि दोनों ही पार्टियां जाट वोटरों को अपने-अपने पाले में लाने की कोशिश कर रही हैं. क्योंकि बीजेपी को जाट समुदाय का पूरा समर्थन नहीं मिल रहा है. कहा जा रहा है कि चुनाव के बाद फिर से गठबंधन बन सकता है. ये सब जाटों के वोट हासिल करने की कोशिश है.

हरियाणा विधानसभा की स्थिति
90 सीटों वाली हरियाणा विधानसभा में बीजेपी के 41 विधायक हैं. कांग्रेस के पास 30 विधायक हैं. जेजेपी के पास 10 विधायक हैं. निर्दलीय विधायकों की संख्या 7 है. बीजेपी को सरकार बनाने के लिए 46 विधायकों की जरूरत है. अब जेजेपी के 5 विधायक बागी हो गए हैं और बीजेपी के पक्ष में खड़े हो गए हैं. वहीं निर्दलीय विधायकों ने भी बीजेपी को समर्थन देने का ऐलान किया है. 2019 में जब हरियाणा सरकार बनी तब भी ये निर्दलीय विधायक एक साथ खड़े थे. केंद्र सरकार ने निर्दलीय विधायकों पर भरोसा न करते हुए जेजेपी के साथ जाने का फैसला किया था.

फिलहाल बीजेपी के 41 विधायकों के अलावा 6 निर्दलीय विधायक और हरियाणा लोकहित पार्टी के गोपाल कांडा बीजेपी के साथ हैं. इस तरह बीजेपी के पास कुल 48 विधायक हैं. इसलिए बीजेपी दोबारा सरकार बना रही है.

टैग: 2024 लोकसभा चुनाव, चंडीगढ़, सीएम मनोहर लाल, हरियाणा के सीएम, हरियाणा सरकार, हरियाणा समाचार, लोकसभा चुनाव 2024, लोकसभा चुनाव