मानसून मौसम रिपोर्ट: मुंबई से केरल तक भारी बारिश ने मचाई तबाही, राजस्थान में पारा गिरा, IMD ने जारी किया अलर्ट – मानसून मौसम रिपोर्ट केरल से मुंबई तक बारिश ने मचाई दहशत कई जिलों के लिए IMD का अलर्ट

हाइलाइट

मुंबई में तय समय से दो दिन पहले सक्रिय हुआ मानसूनआईएमडी ने कोंकण क्षेत्र में बहुत भारी बारिश का अलर्ट जारी किया हैकेरल के 12 जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है

नई दिल्ली/मुंबई। दक्षिण-पश्चिम मानसून धीरे-धीरे मजबूत हो रहा है और अन्य राज्यों में भी सक्रिय हो रहा है। केरल के बाद अब मानसून समय से दो दिन पहले मुंबई पहुंच गया है। इसके चलते मुंबई के साथ-साथ आसपास के इलाकों में भी मूसलाधार बारिश हुई है। इससे सामान्य जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कोंकण क्षेत्र में बहुत भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। मानसून के असर से केरल में भी मूसलाधार बारिश हो रही है। IMD ने कई जिलों के लिए अलर्ट जारी किया है, ताकि आम लोगों के साथ-साथ पुलिस-प्रशासन अतिरिक्त सावधानी और सतर्कता बरतें। वहीं, राजस्थान में पश्चिमी विक्षोभ के चलते मौसम बदला और तेज हवाओं के साथ बारिश हुई। इसके चलते तापमान में गिरावट दर्ज की गई है।

केरल और पूर्वोत्तर क्षेत्र में 30 मई को तय समय से पहले पहुंचने के बाद दक्षिण-पश्चिम मानसून सामान्य से दो दिन पहले रविवार को मुंबई भी पहुंच गया। सामान्य तौर पर मानसून एक जून तक केरल, 11 जून तक मुंबई और 27 जून तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली पहुंच जाता है। मौसम विज्ञानियों ने बताया कि मई के अंत में पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश से गुजरे चक्रवात रेमल ने मानसून को बंगाल की खाड़ी की ओर खींच लिया, जिसके परिणामस्वरूप पूर्वोत्तर में मानसून का आगमन समय से पहले हो गया। आपको बता दें कि केरल में मानसून के आगमन की सामान्य तिथि एक जून और अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, नागालैंड, मेघालय, मिजोरम, मणिपुर और असम में पांच जून है। पूर्वोत्तर भारत में सामान्य से कम, उत्तर-पश्चिम में सामान्य और देश के मध्य व दक्षिण प्रायद्वीपीय क्षेत्रों में सामान्य से अधिक बारिश होने की संभावना है।

मुंबई में भारी बारिश
मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में पिछले 24 घंटे में भारी बारिश हुई, जिससे तापमान में गिरावट आई और लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिली। आईएमडी ने बताया कि भारी बारिश के कारण महाराष्ट्र के पड़ोसी पालघर जिले में सड़क का एक हिस्सा ढह गया, जिससे रविवार सुबह मुंबई-अहमदाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर चार घंटे से अधिक समय तक यातायात प्रभावित रहा। पुलिस नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी ने बताया कि जब भारी बारिश के कारण पालघर के मालजीपाड़ा इलाके में सड़क का एक हिस्सा ढह गया, तब पाइपलाइन समेत मरम्मत का काम चल रहा था। उन्होंने बताया कि इससे यातायात ठप हो गया और सड़क के दोनों ओर आवाजाही बाधित हो गई। ठाणे, नासिक, छत्रपति संभाजीनगर, अहमदनगर, सतारा और जलगांव समेत महाराष्ट्र के कई अन्य जिलों में भी पिछले एक दिन में अच्छी बारिश हुई है।

पश्चिमी विक्षोभ का असर अब दिल्ली में दिखेगा, गरज-चमक के साथ बारिश और धूल भरी आंधी लाएगी मुसीबत

किस क्षेत्र में कितनी बारिश
आईएमडी के अनुसार, दक्षिण मुंबई में कोलाबा वेधशाला, जहां राज्य सरकार के अधिकांश प्रशासनिक कार्यालय स्थित हैं, ने 67 मिमी बारिश दर्ज की, जबकि छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास सांताक्रूज वेधशाला ने इसी अवधि के दौरान 64 मिमी बारिश दर्ज की। कोलाबा वेधशाला में अधिकतम तापमान सामान्य से 1.1 डिग्री अधिक 34.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से 2.9 डिग्री कम 24.3 डिग्री सेल्सियस रहा। सांताक्रूज वेधशाला में अधिकतम तापमान सामान्य से 1.6 डिग्री अधिक 36.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से 1.9 डिग्री कम 25.5 डिग्री सेल्सियस रहा। आईएमडी की रिपोर्ट के अनुसार, सतारा जैसे कृषि की दृष्टि से महत्वपूर्ण जिलों में पिछले एक दिन में 91 मिमी, नासिक में 64 मिमी, अहमदनगर में 57 मिमी, छत्रपति संभाजीनगर में 51 मिमी और जलगांव में 41 मिमी बारिश हुई।

2 जिलों में ऑरेंज और 10 जिलों में येलो अलर्ट
केरल के कई हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के कारण भारी बारिश के बीच आईएमडी ने रविवार को राज्य के दो जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। आईएमडी ने उत्तरी जिलों कन्नूर और कासरगोड में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है, जबकि राज्य के अन्य 10 जिलों में येलो अलर्ट जारी किया गया है। आपको बता दें कि रेड अलर्ट 24 घंटे में 20 सेंटीमीटर से अधिक भारी से बहुत भारी बारिश का संकेत देता है, जबकि ऑरेंज अलर्ट का मतलब 11 से 20 सेंटीमीटर की भारी बारिश और येलो अलर्ट का मतलब छह से 11 सेंटीमीटर के बीच भारी बारिश है। केरल राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (केएसडीएमए) ने कहा कि कोल्लम, इडुक्की, कोझीकोड और कन्नूर जिलों में एक या दो स्थानों पर मध्यम बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। इसके अलावा केरल के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश का अनुमान है।

राजस्थान में बारिश से राहत
राजस्थान के कुछ हिस्सों में पिछले 24 घंटे के दौरान हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई, वहीं अधिकतर स्थानों पर अधिकतम और न्यूनतम तापमान में एक से दो डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने से लोगों को गर्मी से राहत मिली। आईएमडी के अनुसार पिछले 24 घंटे के दौरान जैसलमेर में 28.2 मिलीमीटर, उदयपुर में 25.3 मिलीमीटर, प्रतापगढ़ के छोटी सादड़ी में 23 मिलीमीटर, उदयपुर के सराड़ा में 22 मिलीमीटर, चित्तौड़गढ़ के निम्बाहेड़ा में 20 मिलीमीटर, रेलमगरा में 16 मिलीमीटर, राजसमंद के हुरड़ा में 13 मिलीमीटर तथा कई अन्य स्थानों पर 10 मिलीमीटर से 1 मिलीमीटर तक बारिश दर्ज की गई। पश्चिमी विक्षोभ के असर से बारिश, आंधी और ओलावृष्टि के कारण गंगानगर, बीकानेर, फलौदी, कोटा, सीकर, जैसलमेर, चूरू समेत कई शहरों का तापमान सामान्य से कम दर्ज किया गया। आने वाले दिनों में राज्य के दक्षिण-पूर्वी हिस्सों कोटा, उदयपुर, प्रतापगढ़, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, बांसवाड़ा और झालावाड़ में आंधी के साथ बारिश होने की संभावना है।

टैग: आईएमडी पूर्वानुमान, मानसून समाचार, मुंबई बारिश