माफ़ कर दो… 1800 करोड़ भी ले लो, ज़ेलेंस्की से मिलते ही बाइडन ने ऐसा क्यों कहा? समझिए पूरा मामला

हाइलाइट

बिडेन ने यूक्रेन को 225 मिलियन डॉलर की अतिरिक्त सहायता दीअमेरिकी कांग्रेस ने यूक्रेन को दी जाने वाली सहायता पर छह महीने तक रोक लगा दी थीफ्रांस के साथ हथियार और गोलाबारूद को लेकर भी डील हुई

पेरिस, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पहली बार सार्वजनिक रूप से माफी मांगी है। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की से मुलाकात के दौरान उन्होंने कहा कि पिछले छह महीने से अमेरिका यूक्रेन को सैन्य सहायता नहीं दे पा रहा है। इसके लिए उन्हें बेहद खेद है और जल्द ही उन्हें सारी मदद मुहैया कराई जाएगी। इसके साथ ही बाइडेन ने यूक्रेन को 225 मिलियन डॉलर यानी करीब 1800 करोड़ रुपये के नए पैकेज का भी ऐलान किया।

आपको बता दें कि इससे पहले भी बाइडन ने यूक्रेन के लिए 61 बिलियन डॉलर की सैन्य सहायता का ऐलान किया था, लेकिन कांग्रेस में रिपब्लिकन के कड़े विरोध के चलते यह पैकेज 6 महीने से अटका हुआ है। बाइडन ने जोर देकर कहा, अमेरिकी लोग लंबे समय से यूक्रेन के साथ खड़े हैं। हम अब भी साथ हैं और आगे भी साथ रहेंगे। हम इस बात के लिए खेद व्यक्त करते हैं कि पैकेज न मिलने की वजह से रूस को युद्ध के मैदान में बढ़त मिल गई।

नॉरमैंडी में डी-डे लैंडिंग की 80वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने के लिए बिडेन फ्रांस पहुंचे हैं। सैन्य पैकेज में देरी पर अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, मुझे नहीं पता था कि फंडिंग को लेकर क्या होने वाला है। सैन्य पैकेज में देरी के लिए मैं माफी मांगता हूं। अमेरिकी लोग लंबे समय से यूक्रेन के साथ खड़े हैं। मैं खुद भी पूरी तरह से यूक्रेन के साथ खड़ा हूं। अमेरिका आपके साथ खड़ा रहेगा।

ज़ेलेंस्की को भरोसा दिलाते हुए बिडेन ने कहा, आप पर हमले हो रहे हैं। लगातार दबाव बनाया जा रहा है, इसके बावजूद आप बहादुरी से लड़ रहे हैं। इसके लिए हम हमेशा आपकी तारीफ़ करेंगे। दूसरी तरफ़, ज़ेलेंस्की को फ़्रांस काफ़ी मदद देने वाला है। एक डील पक्की हो गई है, जिससे यूक्रेन को हथियार मिलने वाले हैं।