मालदीव विवाद पर भारत के समर्थन में आया बांग्लादेश, पीएम शेख हसीना का बड़ा बयान

मालदीव के नेताओं की पीएम मोदी पर टिप्पणी: मालदीव के नेताओं द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणियों को लेकर द्वीप देश चौतरफा घिरा हुआ है। जहां देश के अंदर टिप्पणी करने वाले नेताओं की निंदा हो रही है. वहीं, दूसरे देश भी इसकी आलोचना कर रहे हैं. इस बीच बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने भारत का समर्थन किया है.

उन्होंने कहा, “भारत हमारा विश्वसनीय मित्र है। उसने हमेशा हमारा समर्थन किया है। उसने हमारे मुक्ति आंदोलन के दौरान भी हमारा समर्थन किया था। जब हमने अपना पूरा परिवार खो दिया था तब उसने हमें आश्रय दिया था। हमारी शुभकामनाएं भारत के लोगों के साथ हैं।” ।”

‘मालदीव सरकार को भारत से माफी मांगनी चाहिए’
समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए मालदीव की सांसद ईवा अब्दुल्ला ने कहा कि सरकार ने अपने मंत्रियों की टिप्पणियों से खुद को दूर कर लिया है और उन्हें निलंबित कर दिया गया है, लेकिन मालदीव सरकार को औपचारिक रूप से भारतीय लोगों से माफी मांगनी चाहिए। ”

उन्होंने कहा, “मंत्री की टिप्पणियां बेहद शर्मनाक, नस्लवादी और असहनीय हैं।” मंत्री की बातें मालदीव के लोगों की राय से बिल्कुल अलग हैं. हम भलीभांति जानते हैं कि मालदीव भारत पर कितना निर्भर है। जब भी हमें जरूरत पड़ी है, भारत हमेशा सबसे आगे रहा है।”

मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने भी निंदा की
मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने भी मालदीव के मंत्री की अपमानजनक टिप्पणियों की निंदा की। उन्होंने राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू से सरकार को ऐसी टिप्पणियों से दूर रखने का आग्रह किया। नशीद ने मुइज्जू से कहा कि वह भारत को आश्वस्त करें कि इन टिप्पणियों का सरकार से कोई लेना-देना नहीं है।

पीएम मोदी ने लक्षद्वीप की तस्वीरें शेयर की थीं
आपको बता दें कि 2 जनवरी को पीएम मोदी ने अपने लक्षद्वीप दौरे की तस्वीरें शेयर की थीं, जिसमें उनकी स्नॉर्कलिंग की तस्वीरें भी शामिल थीं. तस्वीरें शेयर करते हुए पीएम मोदी ने लिखा कि जिन लोगों को एडवेंचर पसंद है उन्हें लक्षद्वीप को अपनी लिस्ट में शामिल करना चाहिए.

मरियम शिउना ने विवादित टिप्पणी की थी
इन तस्वीरों को लेकर मालदीव के मंत्री शिउना ने पीएम मोदी पर विवादित टिप्पणी की थी. हालांकि, बाद में उन्होंने अपना पोस्ट डिलीट कर दिया। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मालदीव के मंत्री शिउना की टिप्पणी को लेकर भारतीय उच्चायुक्त ने माले में मामला उठाया है.

यह भी पढ़ें- एमवी लीला के रेस्क्यू ऑपरेशन पर पीएम मोदी ने की नौसेना की तारीफ, कहा- ‘देश के समुद्र तट से 2000 किमी दूर…’