मुस्लिम देश सऊदी अरब में रेड सी फैशन वीक शुरू, दुनिया कर रही मोहम्मद बिन सलमान की तारीफ

सऊदी अरब फैशन शो: इस्लाम के गढ़ सऊदी अरब में गुरुवार को जब अरब सुंदरियां रैंप पर उतरीं तो दुनिया देखती रह गई। जिस देश में इस्लाम को लेकर सख्त कानून हैं, वहां फैशन शो किसी आश्चर्य से कम नहीं है. सऊदी अरब में मुसलमानों के दो सबसे पवित्र शहर मक्का और मदीना भी हैं, जहां दुनिया भर से लोग हज और उमरा करने आते हैं। अब सऊदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान इस देश में एक फैशन शो का आयोजन कर रहे हैं.

सऊदी अरब की डिजाइनर टीमा आबिद ने गुरुवार को पहला रेड सी फैशन लॉन्च किया। इस दौरान उन्होंने दुल्हन के परिधानों का प्रदर्शन किया. इन कपड़ों को बनाने में डिजाइनर ने काफी मेहनत की है, उन्होंने इन्हें समुद्र से प्रेरित होकर डिजाइन किया है। कहा जा रहा है कि इस फैशन शो के पीछे सऊदी की बड़ी योजना है. कुछ महीने पहले मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता में सऊदी के शामिल होने की खबरें आई थीं, फिलहाल इस कार्यक्रम का आयोजन करने वाली संस्था ने इस खबर को सिरे से खारिज कर दिया था.

फैशन शो स्थल की विशेषताएं
सऊदी में आयोजित होने वाले रेड सी फैशन वीक का आयोजन समुद्र के बीचोबीच किया जा रहा है। इसका आयोजन सेंट रेड सी रिजॉर्ट में किया जाता है, इस रिजॉर्ट तक केवल नाव से ही पहुंचा जा सकता है। कहा जा रहा है कि सऊदी चाहता है कि अगला यूरोप अरब बने, जिसके चलते सऊदी फैशन शो के नक्शे पर अपना दबदबा बनाना चाहता है। इसीलिए सऊदी अरब लगातार अपने देश के डिज़ाइनर्स को प्रमोट कर रहा है। रेड सी फैशन वीक 2024 में 7 डिजाइनर हिस्सा ले रहे हैं.

सऊदी प्रिंस देश की छवि बदल रहे हैं
शो की शुरुआत डिजाइनर टीमा आबिद के पहले इवेंट से हुई है. टीमा आबिद को डिजाइनिंग के क्षेत्र में 16 साल का अनुभव है। दरअसल, सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान लगातार अपना देश बदल रहे हैं। उनकी उदारवादी नीतियों के कारण सऊदी की कट्टरपंथी छवि बदल रही है। दुनिया में सऊदी की पहचान एक उदार देश के रूप में बढ़ती जा रही है। प्रिंस की वजह से सऊदी अरब में आधुनिकीकरण का दौर चल रहा है. वह पहले ही आधुनिक इस्लाम के बारे में बोल चुके हैं। इन्हीं चीजों को लेकर सऊदी प्रिंस ‘विजन-2030’ पर काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: वैज्ञानिकों को मिला कपास से भी हल्का ग्रह, बृहस्पति से भी बड़ा है इसका आकार