मोदी 3.0 शपथ समारोह नरेंद्र मोदी बांग्लादेश श्रीलंका मालदीव और कई देशों के नेता भारतीय पीएम के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे

मोदी 3.0 शपथ समारोह: मोदी सरकार 3.0 के शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां तेज हो गई हैं। नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह के लिए दुनियाभर के कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों को निमंत्रण भेजा गया है। न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, नरेंद्र मोदी 9 जून को शाम 6 बजे प्रधानमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं।

अंग्रेजी वेबसाइट हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, 9 जून को प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह के लिए बांग्लादेश, भूटान, नेपाल, मालदीव, मॉरीशस, सेशेल्स और श्रीलंका के राष्ट्राध्यक्षों को निमंत्रण भेजा गया है।

इन देशों को पहले भेजा गया आमंत्रण

शुरुआती रिपोर्टों में कहा गया था कि शपथ ग्रहण समारोह में पांच देशों के नेताओं को आमंत्रित किया गया है। हालांकि, शपथ ग्रहण समारोह से जुड़े लोगों ने गुरुवार को नाम न बताने की शर्त पर बताया कि मालदीव और सेशेल्स को भी इस सूची में शामिल किया गया है।

नरेंद्र मोदी ने फोन पर बात की

सूत्रों ने बताया कि नरेन्द्र मोदी ने बुधवार (5 जून) को फोन पर बातचीत के दौरान बांग्लादेश, श्रीलंका, भूटान, नेपाल और मॉरीशस के नेताओं को शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया और गुरुवार (6 जून) को सभी सात देशों को औपचारिक निमंत्रण भेज दिए गए।

भारत के पड़ोसी देशों ने की पुष्टि

सूत्रों ने बताया, “भारत का ध्यान हिंद महासागर क्षेत्र में द्वीपीय देशों के साथ घनिष्ठ संबंध बनाने और सहयोग बढ़ाने पर है। इसके अलावा जिन देशों को आमंत्रित किया गया है, उन सभी को पड़ोसी पहले नीति के तहत आमंत्रित किया गया है।” वहीं, औपचारिक निमंत्रण भेजे जाने से पहले ही बांग्लादेश, नेपाल और श्रीलंका के अधिकारियों ने प्रधानमंत्री शेख हसीना, प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल और राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे के शामिल होने की पुष्टि कर दी थी।

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री को निमंत्रण भेजा गया

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री हसीना के एक सहयोगी ने यहां तक ​​घोषणा की कि प्रधानमंत्री शुक्रवार को नई दिल्ली की यात्रा करेंगी, क्योंकि बांग्लादेशी पक्ष को यह विश्वास दिलाया गया था कि शपथ ग्रहण समारोह 8 जून को होगा। चूंकि औपचारिक निमंत्रण में उल्लेख किया गया था कि शपथ ग्रहण समारोह 9 जून को निर्धारित है, इसलिए ढाका में अधिकारियों ने कहा कि प्रधानमंत्री शनिवार को भारत की यात्रा करेंगी।

मालदीव के राष्ट्रपति भारत आएंगे!

हालांकि, आमंत्रितों की सूची में मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू का नाम शामिल होना आश्चर्यजनक था, क्योंकि पिछले साल चुनाव जीतने के बाद से ही माले और नई दिल्ली के बीच संबंध तनावपूर्ण रहे हैं। मुइज्जू ने चीन के करीब जाने के लिए कई भारत विरोधी कदम उठाए हैं। हालांकि, भारत मालदीव के साथ सहयोग जारी रखना चाहता है। वहीं, मालदीव ने गुरुवार देर रात पुष्टि की है कि मुइज्जू ने निमंत्रण स्वीकार कर लिया है। मालदीव के अधिकारियों ने बताया कि विदेश मंत्री मूसा ज़मीर समेत उनके मंत्रिमंडल के तीन सदस्य भी उनके साथ भारत आएंगे। सत्ता में आने के बाद यह उनकी पहली भारत यात्रा होगी।

यह भी पढ़ें- नरेंद्र मोदी शपथ समारोह: 8 जून को नहीं होगा नरेंद्र मोदी का शपथ ग्रहण, आखिरी वक्त में बदली तारीख