मोहम्मद मुइज्जू ने भारत से दुश्मनी की कसम खाई है, अब चीन मालदीव को दे रहा है “पानी”

छवि स्रोत : REUTERS
चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज़्ज़ू (फ़ाइल)

पुरुष: भारत और मालदीव के बीच तनाव के बाद अब मालदीव चीन पर ज्यादा निर्भर हो गया है। इसलिए अब चीन मालदीव को पानी मुहैया करा रहा है। हाल ही में मालदीव ने चीन से पानी की आपूर्ति बंद करने की मांग की है। चीन ने मालदीव को 1,500 टन पानी की खेप सौंपी है, जो दो महीने से भी कम समय में दूसरा ऐसा योगदान है, जिसे तिब्बती ग्लेशियरों से प्राप्त किया गया है, शुक्रवार को एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया। यह कई अनुदानों और सहायता की नवीनतम खेप है जिसका वादा चीन ने मालदीव को किया है, खासकर तब से जब चीन समर्थक मोहम्मद मुइज़ू नवंबर 2023 में राष्ट्रपति का पद संभालेंगे।

समाचार पोर्टल सन.एमवी की रिपोर्ट के अनुसार, चीन के शिज़ांग स्वायत्त क्षेत्र ने गुरुवार को मालदीव सरकार को 1,500 टन पीने योग्य पानी दान किया। रिपोर्ट के अनुसार, विदेश मंत्रालय ने कहा कि दान किया गया पानी पीने के पानी की कमी के दौरान इस्तेमाल के लिए नागरिकों को वितरित किया जाएगा। इससे पहले 27 मार्च को मालदीव सरकार ने घोषणा की थी कि उसे चीन से 1,500 टन पानी की ऐसी ही खेप मिली है।

मालदीव ने चीन को अच्छा मित्र बताया

मालदीव में चीन के राजदूत वांग लिक्सिन ने यहां एक समारोह में विदेश मंत्री मूसा जमील को यह खेप सौंपी। इस अवसर पर बोलते हुए जमील ने कहा कि चीन “मालदीव का अच्छा दोस्त” है और विशेष रूप से चुनौतीपूर्ण समय और संकट के दौरान एक महत्वपूर्ण सहयोगी है। दिसंबर 2014 में, मालदीव माले जल और सीवरेज कंपनी परिसर में भीषण आग लगने के बाद अपने सबसे खराब जल संकट से गुजर रहा था और इस दौरान भारत ने 4 दिसंबर, 2014 को ‘ऑपरेशन नीर’ चलाकर मालदीव को पानी उपलब्ध कराया था। (भाषा)

यह भी पढ़ें

यूएन चीफ के प्रतिनिधि की कमान एक भारतीय को सौंपी गई, जानिए कौन हैं कमल किशोर जो संभाल रहे हैं ये पद

दुनिया को राहत देने वाली सबसे बड़ी खबर, पुतिन यूक्रेन युद्ध रोकने पर सहमत

नवीनतम विश्व समाचार