यूएई पहुंचा ‘खूंखार आतंकी’ सिराजुद्दीन हक्कानी, भड़के तालिबानी नेता, जानें क्या कहा

तालिबान समाचार: दुनिया का सबसे खूंखार आतंकी सिराजुद्दीन हक्कानी अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार बनने के बाद पहली बार विदेश यात्रा पर गया है। सिराजुद्दीन हक्कानी अफगानिस्तान का गृह मंत्री और हक्कानी नेटवर्क का प्रमुख भी है। यूएई पहुंचने पर राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने हक्कानी प्रमुख का स्वागत किया। सिराजुद्दीन हक्कानी दुनिया के मोस्ट वांटेड आतंकियों की लिस्ट में शामिल है। अमेरिका ने उस पर 10 मिलियन डॉलर का इनाम रखा है। कहा जाता है कि हक्कानी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर भारतीय नागरिकों को निशाना बनाता था।

सिराजुद्दीन हक्कानी के यूएई दौरे के बाद तालिबान में बवाल मच गया है. कहा जा रहा है कि हक्कानी अपने यूएई दौरे के दौरान अमेरिकी अधिकारियों से भी मुलाकात करेगा. हक्कानी प्रमुख के यूएई पहुंचते ही तालिबान नेता मुल्ला हैबतुल्लाह भड़क गया. बताया जा रहा है कि हक्कानी प्रमुख तालिबान नेता से सलाह किए बिना यूएई पहुंच गया है, मुल्ला हैबतुल्लाह को इस दौरे की जानकारी नहीं थी. अफगानिस्तान के अमज न्यूज ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि हक्कानी प्रमुख सिराजुद्दीन के साथ तालिबान के खुफिया प्रमुख अब्दुलहक वासिक भी इस दौरे पर हैं."पाठ-संरेखण: औचित्य सिद्ध करें;">हक्कानी और हैबतुल्लाह के बीच तनाव बढ़ा
तालिबान प्रमुख अभी तक दुनिया के सामने नहीं आया है, उसकी कोई तस्वीर भी सार्वजनिक नहीं है। अफगान मीडिया के मुताबिक सिराजुद्दीन की गुप्त यात्रा अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए ने आयोजित की है। अमज ने लिखा है कि हक्कानी प्रमुख की यूएई यात्रा से मुल्ला हैबतुल्लाह के साथ उसके रिश्ते खराब हुए हैं। बताया जा रहा है कि मुल्ला हैबतुल्लाह और हक्कानी दोनों अब क्षेत्रीय साझेदारों की तलाश कर रहे हैं, ताकि अफगानिस्तान में अपना प्रभाव बढ़ाया जा सके।

हक्कानी को काबुल का विजेता कहा जाता है
विश्लेषकों का मानना ​​है कि दुनिया की क्षेत्रीय ताकतों को अब यह अहसास हो गया है कि आने वाले समय में उन्हें तालिबान के साथ मिलकर आगे बढ़ना होगा। बताया जाता है कि भारतीय नागरिकों पर हमले के बावजूद भारत ने हक्कानी नेटवर्क से बात की थी। हक्कानी को तालिबान में ‘काबुल के विजेता’ के तौर पर देखा जाता है। अफगानिस्तान की सरकार में हक्कानी नेटवर्क की बड़ी भूमिका है।

यह भी पढ़ें: चीन ने ताइवान पर हमला किया तो अमेरिका भेजेगा सेना, जो बिडेन ने दी खुली धमकी