यूक्रेन की मदद के लिए फिर आगे आया अमेरिका, देगा 275 मिलियन डॉलर की सैन्य सहायता

छवि स्रोत : REUTERS
जो बिडेन और व्लादिमीर ज़ेलेंस्की

यूक्रेन के लिए अमेरिकी सैन्य सहायता पैकेज: रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध जारी है। हाल के दिनों में रूस लगातार यूक्रेन पर हमले कर रहा है। यूक्रेन गोला-बारूद की भारी कमी से जूझ रहा है। ऐसे संकट के समय में अमेरिका फिर से यूक्रेन की मदद के लिए आगे आया है। अधिकारियों के मुताबिक अमेरिका इस युद्ध में यूक्रेन को बैकअप सपोर्ट देने की तैयारी कर रहा है। अमेरिका अब यूक्रेन को 275 मिलियन डॉलर का सैन्य सहायता पैकेज देने की तैयारी कर रहा है।

यूक्रेनी सैनिक पीछे हटे

इस बीच, उत्तर-पूर्वी यूक्रेन में रूसी ज़मीनी हमलों के बाद हज़ारों नागरिक क्षेत्र से भाग गए हैं। रूस ने तोपों और मोर्टार से कस्बों और गांवों को निशाना बनाया है। जैसे-जैसे लड़ाई बढ़ती गई, खार्किव क्षेत्र में कम से कम एक यूक्रेनी इकाई को पीछे हटने के लिए मजबूर होना पड़ा। इससे रूसी सेना को सीमा के एक बड़े हिस्से पर नियंत्रण मिल गया है।

यूक्रेन की मदद

रॉयटर्स ने अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से बताया कि संयुक्त राज्य अमेरिका यूक्रेन के लिए 275 मिलियन डॉलर का सैन्य सहायता पैकेज तैयार कर रहा है, जिसमें 155 मिमी के तोप के गोले, सटीक हवाई हथियार और जमीनी वाहन शामिल होंगे।

रूस का परमाणु अभ्यास

उल्लेखनीय है कि यूक्रेन के साथ युद्ध के बीच रूस ने पहली बार परमाणु अभ्यास किया है। इस अभ्यास में रूस ने पहली बार इस्कंदर मिसाइल का इस्तेमाल किया है। अभ्यास के दौरान रूसी सैनिकों को परमाणु हथियार और इस्कंदर सामरिक मिसाइल प्रणाली चलाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

रूस अपनी तैयारियों का परीक्षण कर रहा है

रूसी रक्षा मंत्रालय का कहना है कि रूस को पश्चिमी देशों से मिल रहे खतरों के साथ-साथ अपनी सुरक्षा के मद्देनजर रूसी तैयारियों को परखने के लिए यह परमाणु अभ्यास किया जा रहा है। रूस को डर है कि ट्रेनिंग के बहाने नाटो सैनिक यूक्रेन पहुंचने लगे हैं। एस्टोनिया के प्रधानमंत्री ने भी पिछले दिन इसका जिक्र किया था।

पश्चिमी देश यूक्रेन की मदद कर रहे हैं

रूस यह अभ्यास ऐसे समय कर रहा है जब कुछ दिन पहले ही नाटो और पश्चिमी देशों ने यूक्रेन की मदद के लिए सेना भेजने की बात कही थी। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने पिछले महीने कहा था कि अगर यूक्रेन मदद मांगे तो वह वहां अपनी सेना भेज सकते हैं। ब्रिटिश विदेश मंत्री डेविड कैमरन ने भी कहा था कि अगर यूक्रेन चाहे तो रूस पर हमला करने के लिए ब्रिटिश हथियारों का इस्तेमाल कर सकता है।

यह भी पढ़ें:

नेपाली मूल की महिला पर्वतारोही के कारनामे ने पूरी दुनिया में मचाई सनसनी, कर दिया कमाल

स्पेन में हुआ दर्दनाक हादसा, रेस्टोरेंट की छत गिरने से 4 लोगों की मौत; 20 लोग घायल

नवीनतम विश्व समाचार